छात्र संगठनों का बिहार बंद, राजधानी की सड़कों पर उबाल, पुलिस से भिड़ंत

पटना (नियाज आलम) : राजधानी समेत सूबे के तकरीबन हर जिले में आक्रोश है. अलग-अलग छात्र संगठनों ने बिहार बंद बुलाया है. पटना में सड़कों पर उबाल साफ-साफ देखा जा सकता है. गांधी मैदान से विशाल मार्च निकाला गया. रिजल्ट में हुई धांधली के विरोध में राजधानी में खूब नारे लगाए गए. शिक्षा मंत्री और बीएसईबी अध्यक्ष का इस्तीफा भी मांगा गया. हालात ऐसे हो गए कि छात्रों और पुलिस में भिड़ंत भी हो गई.

बंद का असर राजधानी पटना सहित पूरे बिहार में देखने को मिल रहा है. छात्र सड़कों विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. आरा में छात्र संगठनों का गुस्सा ट्रेन पर उतरा जहां छात्रों ने ट्रैक को जाम कर बवाल काटा. छात्रों का कहना है कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था में बदलाव लाकर समान शिक्षा पद्धति लागू की जानी चाहिए. मार्च में छात्र संगठनों के सदस्य के साथ ही इंटर के छात्र भी शामिल हैं.

पटना में विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने मांग की है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वयं छात्रों से मिलें और उन्हें आश्वासन दें कि जल्द-से-जल्द पूरी व्यवस्था को सुधारा जाए. नहीं तो यह आंदोलन लगातार जारी रहेगा.

छात्रों का कहना है कि स्क्रूटनी के लिए किसी तरह का कोई शुल्क नहीं लिया जाना चाहिए. इसके साथ ही जल्द-से-जल्द रिजल्ट में हुई गड़बड़ी को दूर कर छात्रों का सही रिजल्ट प्रकाशित किया जाना चाहिए.

 

बता दें कि आज सूबे में छात्रों के उग्र रूप का आठवां दिन है. छात्रों का विरोध लगातार जारी है. इंटर काउंसिल के गेट पर धरनों का सिलसिला चल रहा है. मंगलवार को मधेपुरा सांसद और जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव भी बीएसईबी के गेट के सामने घंटों बैठे रहें.

यह भी पढ़ें-

मुंह में ताला लगा BSEB गेट पर बैठे पप्पू, सभी कापियों को अपलोड करने की मांग 
देखें वीडियो : BSEB की तालाबंदी करने पहुंचे पप्पू
AISF ने किया इंटर काउंसिल कार्यालय का घेराव, चक्का जाम, सीएम से मांग रहे हैं जवाब