सुपर-30 के संस्थापक आनंद चले मास्को, 29 जुलाई को होंगे सम्मानित

लाइव सिटीज डेस्कः पटना सुपर-30 के संस्थापक और गणितज्ञ आनंद कुमार को अमेरिका के बाद अब रूस की राजधानी मास्को में सम्मानित किया जाएगा. IIT की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए देश-विदेश में चर्चित आनंद कुमार को शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान के लिए यह सम्मान मिल रहा है.

studio11

दरअसल रूस में सांस्कृतिक और सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाली संस्था ‘ओवरसीज बिहार एसोसिएशन’ ने आंनद को सम्मानित करने का फैसला लिया है. संस्थान के 70वीं वर्षगांठ के मौके पर उन्हें सम्मानित किया जाएगा.

ओवरसीज बिहार एसोसिएशन के मुकेश कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि आनंद को 29 जुलाई को वेगास हॉल में संस्थान द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा. इस मौके पर रूस में भारत के राजदूत पंकज शरण के अलावा श्रीलंका, बांग्लादेश, मॉरिशस और नेपाल के राजदूत तथा रूस के कई प्रमुख राजनेता मौजूद रहेंगे.

मुकेश कुमार ने बताया कि आनंद बिहार में सुपर-30 के माध्यम से एक क्रांतिकारी बदलाव ला रहे हैं. प्रत्येक साल आर्थिक रूप से पिछड़े व वंचित समाज के 30 बच्चों को मुफ्त में पढ़ाना, उनके खाने व रहने की व्यवस्था करना और उन्हें इस घनघोर बजारवाद के दौर में बिना शुल्क लिए आईआईटी में प्रवेश परीक्षा के लिए तैयार करना कोई साधारण कार्य नहीं है.

मुकेश कुमार ने आगे कहा कि एसोसिएशन का मानना है कि आनंद कुमार को सम्मानित कर एसोसिएशन खुद सम्मान पा रहा है. उन्होंने बताया कि समारोह में प्रसिद्ध गायिका सोनिया महापात्रा और नीरज श्रीधर लाइव कार्यक्रम भी प्रस्तुत करेंगे.

बता दें कि इससे पहले अमेरिका में भारतवंशी समुदाय ने सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार को सम्मानित किया था. उन्हें गरीब बच्चों को आईआईटी की प्रतियोगिता में सफलता दिलाने के प्रयासों के लिए यह सम्मान मिला था.

मालूम हो कि पिछले महीने ही रूस के कुछ स्टूडेंट भी अपने बिहार दौरे के समय सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार से मुलाकात की थी. उनकी क्लास में बैठकर दूसरे स्टूडेंट्स के साथ मैथ के गुर सीखे थे. जाते समय रूसी झात्रों ने बताया था कि उन्हें आनंद कुमार से मैथ के ट्रिक्स सीखने में बहुत मजा आया.

यह भी पढ़ें-

रूस ने माना इस बिहारी का लोहा, आनंद से मैथ सीखने पहुंचे रूसी स्टूडेंट