भाजपा-आरएसएस तोड़ना चाहते हैं महागठबंधन, मैं नहीं दूंगा इस्तीफा

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार की राजनीति में चल रहे घमासान के बीच डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी अपने पिता और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की हां में हां मिलाते हुए कहा है कि मैं इस्तीफा नहीं दूंगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुझसे इस्तीफा देने की कभी बात ही नहीं कही है तो इस्तीफे पर बवाल क्यों मचाया जा रहा है?

तेजस्वी यादव ने कहा कि राजद ने तय किया है कि हम इस्तीफा नहीं देंगे और जदयू कोई पुलिस नहीं है जो उसके प्रवक्ता इस्तीफा मांग रहे हैं. उन्होंने फिर दुहराया कि महागठबंधन में कोई दरार नहीं है. डिप्टी सीएम ने कहा कि हमें जनता ने चुनकर भेजा है और हम जनता को ही सफाई देंगे और लाखों लोगों के बीच अपनी सफाई देंगे. उन्होंने कहा कि जब गठबंधन हुआ तो लालू जी पर भी तो आरोप लगे थे तब भी गठबंधन हुआ की नहीं. ये सब आरएसएस और बीजेपी की साजिश है कि किसी तरह गठबंधन को तोड़ दो.

 

डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भाजपा नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर करारा हमला करते हुए कहा कि सुशील मोदी तो बिहार के हैं भी नहीं और बाहर से आकर राजनीति करने वाले नेता क्यों बिहार का भला चाहेंगे. बिहार में विकास हो रहा है जो इनसे देखा नहीं जा रहा है.

तेजस्वी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि एनडीए के लोग बताएं कि क्या हुआ गंगा सफाई का? क्या हुआ मेक इन इंडिया का? मैं सीबीआई से भी सवाल करता हूं कि व्यापम घोटाला में क्या हुआ. इतनी हत्या हुई क्यों नहीं जांच हुई? ये क्या तानाशाही है?

गौरतलब हो कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव राजद विधायक दल की बैठक के बाद मीडिया से रूबरू हुए. तेजस्वी मीडिया के सामने कॉन्फिडेंट दिखे. बता दें कि तेजस्वी यादव ने मंगलवार को ही दिल्ली में वरिष्ठ वकीलों से मुलाकात की है. वो राजद सांसद और सीनियर वकील राम जेठमलानी से भी मिले. सीबीआई एफआईआर पर कानूनी दांव-पेंच समझे.

यह भी पढ़ें-

लालू प्रसाद का बड़ा बयान, नीतीश से हो गई है बात, तेजस्वी नहीं देंगे इस्तीफा
महागठबंधन को नुकसान पहुंचाना भाजपा की औकात से बाहर, 29 को बैठक में होगा फैसला
फ्लाइट का टिकट कैंसिल, अब सड़क मार्ग से रांची जाएंगे लालू प्रसाद