शिक्षकों से जुड़ी है यह जरूरी खबर, डीएलएड परीक्षा के बारे में…

लाइव सिटीज डेस्कः राज्य भर में एक से पांचवीं कक्षा में 65,800 रिक्तियां हैं. लेकिन इस बार टीईटी में कक्षा एक से पांचवीं कक्षा में सिर्फ 7038 परीक्षार्थी सफल हो सके हैं. ऐसी स्थिति में करीब 50 हजार सीटें खाली रह जाने की संभावना है. परीक्षा में 43 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए थे. सीटें नहीं भरने का एक और बड़ा कारण है पिछले दो साल से डीएलएड की परीक्षा नहीं हो रही है.

परीक्षा नहीं होने से टीईटी में छात्रों को बैठने का मौका ही नहीं दिया गया है. एक से पांचवीं कक्षा के लिए अधिक रिक्तियां थीं. पर इतने अभ्यर्थी भी नहीं जुट सके. एक से पांचवीं कक्षा में शिक्षकों की कमी एक बार फिर से हो जाएगी. शिक्षा विभाग ने कोर्ट को शिक्षकों की जो रिक्तियां उपलब्ध कराई थी, इसके हिसाब से एक से 5वीं कक्षा में 65,800 रिक्तियां हैं.

वहीं, छह से आठ कक्षा के लिए 21,177 सीटें हैं. इस बार टीईटी में छठी से 8वीं कक्षा के लिए सिर्फ बीएड वाले को ही मौका दिया गया था. बीएड वाले अभ्यर्थियों को एक से 5वीं कक्षा के लिए मौका नहीं दिया गया था. इस वजह से और मामला फंस गया. वहीं डीएलएड वाले अभ्यर्थी ही एक से पांचवीं कक्षा के लिए आवेदन कर सकते थे. वहीं छठी से 8वीं में सीट से सात गुणा अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी.

इसमें 21 हजार सीटों के लिए 1 लाख 29 हजार परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी. इसमें 30 हजार छात्रों को सफलता मिली. ऐसी स्थिति में हाई कटऑफ वाले अभ्यर्थियों का ही नियोजन संभव होगा. कम कटऑफ वाले अभ्यर्थियों का नियोजन नहीं होगा. वहीं देखा जाए तो साइंस से टीईटी पास करने वाले अभ्यार्थियों की संख्या भी बहुम कम है. एकबार फिर साइंस में बहुत कम अभ्यर्थी सफल हो सके हैं.

यह भी पढ़ें-

श्रीनगर में BSF कैंप पर फिदायीन अटैक, एयरपोर्ट था अतंकियों की टारगेट पर
OBC कैटेगरी वालों के लिए गुड न्यूज, राष्ट्रपति कोविंद ने दिए यह आदेश
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)