नीतीश पर आरोप लगा फंस गए नेताजी, नहीं दिए लाख तो जाएंगे जेल

लाइव सिटीज डेस्क : गलत याचिका दायर करना कितना महंगा पड़ता है, यह कोई इस नेताजी से कोई पूछे. अब इन्हें सुप्रीम कोर्ट में जुर्माना भरना पड़ेगा, वो भी एक लाख रुपये. यूं कहें कि नेताजी को गलत याचिका के चक्कर में लेने के देने पड़ गये.

जी हां, यह मामला बिहार के याचिकाकर्ता मिथिलेश कुमार सिंह का है. उन्हें सुप्रीम कोर्ट में अब जुर्माना भरना पड़ेगा. याचिकाकर्ता ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. इसी पर सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने इसके साथ ही याचिकाकर्ता मिथिलेश कुमार सिंह को कड़ी हिदायत भी दी है.

दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए मिथिलेश कुमार सिंह ने पिछले दिनों सुप्रीमकोर्ट में एक याचिका दायर की थी. उन्होंने नीतीश कुमार पर स्लीपर घोटाले व अन्य में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल ही 5 दिसंबर को उस आरोप को गलत ठहराते हुए याचिका को खारिज कर दिया था. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने एक लाख का जुर्माना भी लगाया था. लेकिन याचिकाकर्ता ने इसका पालन नहीं किया.

इसी मामले की सुनवाई बुधवार को फिर हुई. सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर व न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ ने याचिकाकर्ता को एक सप्ताह के अंदर जुर्माने की रकम जमा कराने का आदेश दिया. कोर्ट ने वहां मौजूद याचिकाकर्ता मिथिलेश सिंह को चेतावनी देते हुए कहा कि वह जुर्माना देगा कि नहीं, अन्यथा उसे जेल भेज दिया जायेगा. इस पर मिथिलेश सिंह ने समय सीमा के अंदर जुर्माना भरने की बात कही. इस मामले की अगली सुनवाई 13 जुलाई को होगी. कोर्ट ने यह भी कहा कि यदि समय पर जुर्माना नहीं भरने पर अगली तारीख को उसे कोर्ट में फिर पेश होना होगा.

इसे भी पढ़ें : नीतीश बोले – केन्द्र ने नहीं पूरे किये वादे, देश में वैकल्पिक नैरेटिव की जरूरत 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*