सवालों से घिरे NEET 2017 पर आया ‘सुप्रीम’ फैसला…

लाइव सिटीज डेस्क (प्रियांशु ) : मेडिकल अस्पिरेंट्स के लिए बड़ी खबर है. NEET के रिजल्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने CBSE की मांग पर सुप्रीम फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाई कोर्ट के 24 मई के आॅर्डर पर स्टे लगाते हुए नीट 2017 के रिजल्ट को 26 जून से पहले घोषित करने का आदेश सुनाया. लेकिन देखना यह होगा कि यह आदेश को अस्पिरंट्स पॉजिटिव लेते हैं या निगेटिव. क्योंकि, पिछले साल की तरह इस साल भी NEET के प्रश्नपत्र लीक होने का मामला सामने आया है, जो छात्रों में एक चिंता का विषय बना हुआ है.

इस बार तो NEET परीक्षा में की गयी सुरक्षा व्यवस्था भी सवालों के घेरे में रहा है. कई जगहों पर से तो ऐसी खबर मिली, जिसकी निंदा पूरे देश में देखने को मिला. छात्राओं को सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देते हुए उनके कपड़े तक काटे गये. NEET परीक्षा पर इस साल यह भी आरोप है कि अलग-अलग भाषाओं में अलग-अलग स्तर के प्रश्नपत्र आये थे. मतलब कठिनाई का स्तर कहीं ज्यादा तो कहीं कम.

इसी मुद्दे को उठाते हुए एक छात्र की मां ने मद्रास हाई कोर्ट में याचिका भी दायर की थी और परीक्षा पुनः करवाने की मांग की थी. जिस पर मद्रास हाई कोर्ट ने CBSE से जवाब मांगते हुए NEET के रिजल्ट पर अंतरिम रोक लगा दी थी. मतलब जब तक कोई निश्चित फैसला नहीं आ जाता, तब तक रिजल्ट को ज़ारी नहीं करने को कहा था. लेकिन, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दखल देते हुए CBSE को नीट का रिजल्ट जारी करने का आदेश दिया है और मद्रास हाई कोर्ट से भी अपील की है कि नीट से जुड़े कोई भी याचिका की सुनवाई नहीं की जाये.

आपको यह बता दें कि नीट द्वारा MBBS और BDS कोर्स में एडमिशन होता है और इस वर्ष लगभग 12 लाख स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हुए हैं, जिनमें से लगभग 10 लाख छात्रों ने हिंदी या इंग्लिश में परीक्षा दी और बाकियों ने अपने मातृभाषा में.

इस परीक्षा का रिजल्ट 8 जून को ही आने वाला था, लेकिन मद्रास हाई कोर्ट के फैसले की वजह से इस पर रोक लग गयी थी.

छात्रों को यह चिंता खाए जा रही थी कि इस परीक्षा का रिजल्ट कब तक निकलेगा और क्या इस वर्ष भी पिछले वर्ष की तरह दुबारा परीक्षा ली जाएगी, लेकिन सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से सब कुछ साफ़ हो गया और कहें तो छात्रों की जान में जान आ गयी. कल ही रविवार को JIPMER का रिजल्ट आया और आज NEET पर फैसला अब देखना यह होगा कि कब तक रिजल्ट आता है और छात्र इस से कितने संतुष्ट रहते हैं.