बिहार पहुंच तो गए अब लौटेंगे कैसे, मार चल रही है ट्रेनों में, उड़ना बजट से बाहर

लाइव सिटीज डेस्कः फेस्टिव सीजन में पहले बिहार पहुंचने के लिए मारा-मारी हुई. कितने तो पहुंच भी नहीं सके. कितनों का दिवाली और छठ ट्रेनों में ही हो गया. अब वापस लौटने के लिए हाहाकार मचा है. ट्रेनों में इतनी वेटिंग है कि देख कर यात्रियों के होश उड़े हुए हैं. वहीं हवाई सफर का किराया तो हिमालय छू रहा है. दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु जैसे शहरों से लोग कई गुना महंगी टिकट लेकर हवाई जहाज से बिहार पहुंचे थे. अब छठ पर्व बीतने के बाद वापस लौटने के लिए रेला लगा है.

विमानों का किराया तीन गुना महंगा हो गया है. ट्रेनों में लंबी वेटिंग लिस्ट चल रही है. लोगों को किसी तरह यात्रा करने पर मजबूर होना पड़ रहा है. पटना एयरपोर्ट पर शुक्रवार का हाल जानकर आप चौंक जाएंगे. आम दिनों से ज्यादा भीड़ देखने को मिली पटना एयरपोर्ट पर. पोर्टिको से लेकर सिक्यूरिटी चेक इन तक लंबी लाइन लगी थी. दोपहर में इंट्री गेट पर भी लोग देर तक कतार में लगे रहे.

विमानों का किराया डिमांड की वजह से आसमान छू रहा है. दिल्ली, मुंबई, कोलकाता व चेन्नई का किराया आज शनिवार और कल रविवार को आम दिनों से तीन गुना हो गया है. आज 28 अक्टूबर को दिल्ली जाने के लिए सबसे सस्ती टिकट सुबह आठ बजे जेट एयरवेज की 11 हजार की थी. वहीं इंडिगो का 12 हजार. जबकि आज शाम में एयरइंडिया का किराया 20 हजार है.

अन्य विमान कंपनियों का किराया 12 हजार से 20 हजार के बीच में है. 29 अक्टूबर को पटना से दिल्ली के लिए औसतन किराया 13 हजार है. 3 नवम्बर से दिल्ली का किराया चार हजार हो जाएगा. 15 से करीब तीन हजार रुपए किराया हो जाएगा.

उधर पटना से बेंगलुरु जाने वाले यात्रियों को 28 अक्टूबर को औसतन किराया 12 हजार है. 29 अक्टूबर को औसतन 14 हजार. सात नवम्बर से बेंगलुरु का किराया करीब पांच हजार तक हो जाने की उम्मीद है. इसके साथ ही आज 28 अक्टूबर को पटना से कोलकाता जाने के लिए औसतन आठ हजार से नौ हजार रुपए किराया चुकाना पड़ रहा है. जबकि 29 अक्टूबर यानी कल 11 से 13 हजार रुपए किराया देना होगा.