आरा पहुंचा शौचालय घोटाला, शाहपुर में 12 लाख की हेराफेरी आ रही सामने

आरा/शाहपुर (पुष्कर पांडेय/दिलीप ओझा) : सूबे के शौचालय घोटाले की धमक शाहपुर नगर पंचायत में भी पहुंच गई है. यहां 12 लाख रुपये का घोटाला सामने आया है. शौचालय घोटाले में शाहपुर नगर पंचायत का नाम भी शामिल हो गया है.

सूत्रों के अनुसार शाहपुर नगर पंचायत में शौचालय निर्माण हेतु लाखों रुपये की निकासी कर ली गई. लेकिन, इस राशि से एनजीओ द्वारा मात्र 5 शौचालयों का निर्माण करा कर 12 लाख रुपये अग्रिम निकासी हो गई. शौचालय निर्माण और लाखों रुपये की बंदरबांट तत्कालीन कार्यपालक पदाधिकारी तथा एनजीओ सरस्वती महिला संस्थान, वैशाली के द्वारा खेला गया बताया गया जा रहा है.

शौचालय घोटाला : पटना से एसबीआई की महिला अधिकारी अरेस्ट

शाहपुर नगर पंचायत में वर्ष 2010-11 में सरकारी निर्देशों के आलोक में नप के सभी 11 वार्डों में करीब 120 शौचालय निर्माण के लिए सरस्वती महिला संस्थान, वैशाली को अधिकृत किया गया था. उक्त संस्था द्वारा शौचालय निर्माण हेतु सभी वार्डों का सर्वेक्षण कर प्रत्येक वार्ड से 11-11 लोगों को चिह्नित कर उनसे पंजीयन शुल्क के नाम पर एक-एक हजार रुपये संस्था द्वारा लाभार्थियों से वसूला गया. लेकिन कार्यपालक पदाधिकारी एवं उक्त एनजीओ के सचिव द्वारा सांठगांठ कर बिना शौचालय निर्माण कराये ही 12 लाख रुपये की निकासी कर ली गई है.

टॉयलेट स्कैमः अब जड़ तक पहुंच रही है पटना पुलिस

बताया जाता है कि 12 हजार रुपये की दर से एनजीओ को शौचालय निर्माण कराने एवं वार्ड पार्षदों की अनुशंसा पर शौचालय निर्माण कराने वाली संस्था को राशि का भुगतान किया जाना था. परंतु कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा बिना बोर्ड की सहमति एवं बिना सूचना के ही उक्त एनजीओ को लाखों की राशि का भुगतान कर दिया गया. दिलचस्प बात यह भी है कि सरकारी ऑडिट के द्वारा भी इस वित्तीय अनियमितता को नजर अंदाज कर दिया गया. साथ ही शाहपुर नगर पंचायत के द्वारा भी शौचालय निर्माण के नाम पर राशि के गबन करने वाली सरस्वती महिला संस्थान, वैशाली पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*