घर में थीं एक पति की दो पत्नियां, किसी ने काट डाला दोनों का गला

आरा(पुष्कर पांडेय/सोनू सिंह) : यह तो हद ही हो गई. ना किसी से दुश्मनी और ना किसी से बैर. पति तो पहले ही मर चुका था. फिर भी एक सौतन का गला किसी ने सोते समय तो दूसरी सौतन का गला खाना बनाते समय काट डाला. एक का शव घर के अंदर और दूसरे का शव बरामदे में मिला है. आसपास एवं क्षेत्र के लोगों के मन में यह बात कौंध रही है कि आखिर कौन दुश्मन निकला.

दिल दहला देने वाली घटना पीरो थाना क्षेत्र के सेदहा गांव में घटी. घटना की जानकारी किसी ने सुबह में पुलिस को दी. पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. बताया जा रहा है कि दोनों की हत्या गला काटकर ही की गई है. गले पर धारदार हथियार से वार किया गया है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पीरो अनुमंडल के सेदहा गांव निवासी विश्वनाथ सिंह ने मोतिहारी देवी से शादी की थी. पहली पत्नी से बच्चा नहीं हो रहा था. इसको लेकर वह परेशान रहते थे. तब उन्होंने बच्चे के लिए दूसरी शादी कांति देवी से की. शांति देवी से एक बेटी काजल का जन्म हुआ. समय पर उसकी शादी भी विश्वनाथ सिंह ने रोहतास जिले में धूमधाम से कर दी .लेकिन 5 वर्ष पूर्व विश्वनाथ सिंह का बीमारी के कारण उनका निधन हो गया. तबसे दोनों सौतन मोतिहारी देवी 75 वर्ष तथा कांति देवी 50 वर्ष साथ रहती थी.

बताया जा रहा है कि कांति देवी खाना बना रही थीं और मोतिहारी देवी सोई हुई थीं. तभी किसी ने पीछे से आकर कांति देवी का गला रेत डाला. इसके बाद सोई मोतिहारी देवी का भी गला रेतकर हत्या कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारा भाग निकला. हत्या की वजह क्या है यह खुलकर सामने नहीं आया लेकिन सूत्रों का कहना है कि आसपास के लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है. घटनास्थल पर पीरों एसडीपीओ डॉ रेशु कृष्ण पहुंची हुई हैं.