बेटे पर मामला दर्ज होने से गुस्से में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, बहुत कुछ बोले हैं…

अश्विनी चौबे का फाइल फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : भागलपुर पुलिस ने सोमवार को केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत चौबे के खिलाफ मामला दर्ज किया है. उनके खिलाफ भागलपुर में हिंसा फैलाने का आरोप है. इसे लेकर अर्जित शाश्वत चौबे के पिता अश्विनी चौबे काफी गुस्से में हैं. अश्विनी चौबे अभी केंद्र की मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल हैं. अश्विनी चौबे अभी केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री हैं. वे गुस्से में बहुत कुछ बोले हैं.

बता दें कि सोमवार को भागलपुर में केंद्रीय अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर निकाली गयी शोभायात्रा के बाद फैली हिंसा को लेकर अर्जित शाश्वत चौबे समेत करीब 500 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. इस पर उनके पिता केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने जमकर गुस्सा जाहिर किया है. उन्होंने कहा कि वंदे मातरम कहना कोई गुनाह नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि भारत माता की जय और जय श्रीराम कहना आतंक नहीं है. यदि ऐसा होता तो सबसे पहले महात्मा गांधी आतंकी होते. गांधी ने हे राम कहते हुए आखिरी सांस ली थी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि भागलपुर में भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर आयोजित शोभायात्रा निकाले जाने से कोई विवाद खड़ा नहीं हुआ है. शोभा यात्रा शांतिपूर्वक निकल गयी थी. शोभा यात्रा जुलूस का इससे कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि शोभा यात्रा निकालने के लिए यदि आदेश नहीं लिया गया था, तो यात्रा को शुरू होने के समय ही रोक दिया जाना चाहिए था. उन्होंने दो टूक कहा कि प्रशासन से आदेश भी लिया गया था. शोभा यात्रा के साथ प्रशासन के लोग भी थे. चौबे ने कहा कि यहां असामाजिक तत्वों ने विवाद को जन्म दिया है.

बता दें कि भागलपुर में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे पर प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है तो इधर पटना में विधानसभा में इसी मुद्दे पर जमकर हंगामा भी हुआ है. विधानसभा में भागलपुर में हुई घटना पर राजद के विधायकों ने सदन के अंदर-बाहर जमकर हंगामा किया है. राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने तो यहा तक कह दिया है कि केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बिहार में माहौल बिगाड़ रहे हैं. वहीं सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री के संरक्षण में ही बिहार में माहौल खराब करने का काम किया जा रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*