ये क्या बोल गये उपेंद्र कुशवाहा : जिस नाव पर जायेंगे नीतीश कुमार, वह नाव ही डूब जायेगी

रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा (फाइल फोटो)

हाजीपुर (केके पाठक) : राष्ट्रपति चुनाव पर बिहार में महागठबंधन को लेकर सियासत तेज हो गयी है. महागठबंधन के दो मजबूत घटक दलों मेंं कलह बढ़ गयी है. भाजपा की ओर से सीएम नीतीश कुमार का समर्थन किया जा रहा है. ऐसे में केंद्र में एनडीए के एक घटक दल रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार के खिलाफ कड़ा बयान दिया है. इससे एनडीए में भी राजनीतिक हलचल होने से इनकार नहीं किया जा सकता है.

दरअसल केंद्रीय राज्यमंत्री व रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा रविवार को हाजीपुर पहुंचे थे. वे एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बोल रहे थे. पत्रकारों के सवालों के जवाब में केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार जिस नाव पर जायेंगे, वह नाव ही डूब जायेगी. हालांकि उन्होंने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के बयान पर चुप्पी साध ली.

हाजीपुर में केंद्रीय राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा पत्रकारों को संबोधित करते हुए

इधर पॉलिटिकल कॉरिडोर में केंद्रीय राज्यमंत्री उपेंद्र के इस बयान से उफान आने से इनकार नहीं किया जा सकता है. उपेंद्र कुशवाहा का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब भाजपा के तमाम वरीय नेता व एनडीए के घटक दल नीतीश कुमार का समर्थन कर रहे हैं. यहां तक कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने जोर देकर कहा है कि नीतीश कुमार को एनडीए की नाव पर आ जाना चाहिए.

शोरूम के उद्घाटन में पहुंचे थे उपेंद्र कुशवाहा

हाजीपुर में पत्रकारों ने जब उपेंद्र कुशवाहा से रामविलास पासवान के बयान के बारे में पूछा तो वे कुछ नहीं बोले. हां, कांग्रेस पर भड़ास निकालते हुए कहा कि यूपीए ने जान बूझकर बिहार की बेटी को बेइज्जत करने के लिए चुनाव मैदान में उतारा है. कांग्रेस जब पूर्ण बहुमत में थी, तब उन्हें किसी दलित महादलित की याद राष्ट्रपति के लिए क्यों नहीं आयी. आज जब मालूम है कि पूर्ण बहुमत एनडीए के साथ है, तब उसे दिखावा करने के लिए दलित महादलित की याद आयी है.

जनता सब देख रही है और लोकतंत्र में जनता ही मालिक है.

इसे भी पढ़ें : इंतजार खत्‍म : तैयार हो रहा है आपके लिए बंगला, जमीन सहित 16 लाख से शुरु 
जदयू ने आरजेडी को चेताया, कहा- या तो विराम लगेगा… नहीं तो