‘बर्निंग ट्रेन’ बनने से बाल-बाल बची वाराणसी-सियालदह एक्सप्रेस

बक्सर (शशांक सिंह) :  दानापुर-मुगलसराय रेलखंड पर एक बड़ा रेल हादसा होने से बच गया. स्थित चौसा-बक्सर रेलवे स्टेशन के बीच वाराणसी-सियालदह एक्सप्रेस आग की चपेट में आने से बाल-बाल बच गयी. खबर है कि पवनी-कमरपुर हॉल्ट के होम सिग्नल के पास डाऊन लाइन के किनारे झाड़ियों में अचानक आग लगने के कारण डाऊन लाइन पर घंटों ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया. इस दौरान 3134 डाउन वाराणसी सियालदह एक्सप्रेस चौसा पहुंच रही थी. ट्रैक किनारे भयावह आग की सूचना से ट्रेन को खड़ा कर दिया गया.

चौसा एसएम एसपी सिंह ने बताया कि मंगलवार की दोपहर चौसा-पवनी कमरपुर हाल्ट के होम सिग्नल के समीप असामाजिक तत्वों के द्वारा डाउन लाइन के किनारे झाड़ियों में आग लगा दी गयी थी. पवनी गेट मैन के द्वारा इसकी सूचना चौसा स्टेशन को दी गई. बाद में गेटमैन व ग्रामीणों के द्वारा आग को बुझाया गया. करीब एक घंटे बाद ट्रेन को बक्सर के लिए छोड़ा गया. ट्रेन के खड़ा होने से यात्रियों को काफी फजीहत हुई. अन्य स्टेशनों पर भी कई ट्रेनें खड़ी हो लेट होती रही.

डेढ़ घंटे बाद आग पर पाया गया काबू

डाउन ट्रैक के किनारे आग लगने की सूचना दानापुर कंट्रोल व बक्सर स्टेशन को भी दी गयी थी. एहतियात के तौर पर विभिन्न स्टेशनों पर विलंब से गाड़ियों को खोलने का निर्देश दिया गया. स्टेशन प्रबंधक ने बताया कि गेटमैन व कुछ ग्रामीणों के द्वारा बहुत कोशिश करने के बाद आग को बुझाया गया. इस दौरान चौसा रेलवे स्टेशन पर करीब 85 मिनट तक ट्रेन खड़ी रही. आग बुझाने की सूचना के बाद ट्रेन को बक्सर के लिए छोड़ा गया.

ट्रैक पर आग देख दहशत में आये यात्री  

रेलवे ट्रैक पर आग देख यात्री दहशत में आ गये. हालांकि आग की लपटें ट्रेन से काफी दूर थीं. लपटों की सूचना ट्रेन के खड़ा होने से यात्रियों को काफी फजीहत झेलनी पड़ी. डाउन प्लेटफार्म पर घंटों ट्रेन के खड़ा हो जाने से डाउनलाइन में गहमर स्टेशन पर एचपीएस मालगाड़ी के अलावे अन्य स्टेशनों पर भी कई ट्रेनें खड़ी हो लेट होती रहीं.

यह भी पढ़ें-
मुजफ्फरपुर में वैशाली एक्सप्रेस में लगी आग, ट्रेन बुलाई गई वापस