पटना में करता था क्राइम, भोजपुर में लेता था शरण

arrah

लाइव सिटीज डेस्क(पुष्कर पांडेय): पिछले कई दिनों से पटना पुलिस के लिए सिरदर्द कई उप नामों से चर्चित विकी यादव हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त शिवम सिंह को भोजपुर पुलिस ने नेकनाम टोले में छापेमारी कर धर दबोचा. इसके बाद पटना पुलिस ने भी राहत की सांस ली. पुलिस कप्तान क्षत्रनील सिंह के निर्देश पर बड़हरा थाने की पुलिस ने नाटकीय अंदाज में शिवम को धर दबोचा. उसके पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा व दो जिंदा कारतूस बरामद किया था.



छापेमारी में मनोज कुमार थानाध्यक्ष का विशेष योगदान रहा. पटना में क्राइम करने की सूचना मिलते ही भोजपुर में शरण लेनेवाले नेकनाम टोला निवासी को पकड़ने के लिए पुलिस कप्तान क्षत्रनील सिंह ने एक टीम गठित की थी, जिसकी कमान सदर एसडीपीओ संजय कुमार को सौंपी थी. टीम में बड़ाहरा थानाध्यक्ष मनोज कुमार थे.


करीब दो दर्जन से ज्यादा हत्या सहित दहशत फैलाने के उद्देश्य गोलीबारी तथा कई कांडों में शिवम सिंह अभियुक्त है. पटना में हत्या जैसे कई क्राइम करने के बाद पुलिस की पकड़ में नहीं आने का कारण सबसे बड़ा यह था कि वह पटना में क्राइम करता और भोजपुर में आकर शरण ले लेता था. बड़हरा के दीयर क्षेत्र में रहने के कारण उसे ढूंढ़ना आसान नहीं था.
बडहरा थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि बड़हरा थाना क्षेत्र के नेकनाम टोला निवासी मुकेश सिंह उर्फ मनजीत सिंह का पुत्र कुख्यात शिवम सिंह के कई नाम हैं. शिवम सिंह के अलावा उर्फ नीरज सिंह उर्फ बाबू सिंह उर्फ शंकर के नाम से भी जाना जाता था.

arrah
पटना के बुद्धा कॉलोनी में विक्की राय हत्याकांड में मुख्य अभियुक्त शिवम सिंह था, जिसकी तलाश पटना पुलिस कर रही थी. पुलिस के अनुसार उस समय सड़क जाम किया गया था और भारी हंगामा हुआ था. इसके अलावा रूपसपुर में लूटकांड में शिवम उर्फ नीरज की तलाश पटना पुलिस को थी. राजीव नगर में गोलीकांड शास्त्री नगर में गोलीबारी लूट सहित पटना में हुए दो दर्जन से ज्यादा मामलों में पुलिस को तलाश थी.

यह भी पढ़े – मशरक मिड-डे मील हादसा मामले की सुनवाई जुलाई के प्रथम सप्ताह में
विधायक मेवालाल चौधरी की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई टली
लेट हो रही थी दूल्हे की ट्रेन, लगाई प्रभु से गुहार और बढ़ गई मगध की रफ्तार…