‘मैं उऩ्हें बनाना चाहता था सीएम’, सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद बोले नीतीश कुमार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: नीतीश कुमार ने बड़ा बयान दिया है. सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि मैं तो मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता था. लेकिन बीजेपी के आग्रह पर मैंने सीएम बनना स्वीकार किया . उन्होंने कहा कि बीजेपी से कोई मुख्यमंत्री बनें यही मेरी इच्छा थी.

बिहार का अगला डिप्टी सीएम कौन होगा, इस सवाल का जवाब देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि अभी यह तय नहीं हुआ है. लेकिन बहुत जल्द सारी बातें क्लीयर हो जाएगी. स्पीकर किस दल से होगा इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अभी इस पर चर्चा नहीं हुई है. लेकिन शपथ ग्रहण के पहले ये सारी बातें स्पष्ट हो जाएगी.



नयी सरकार में मंत्री कितने होंगे इस पर जवाब देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि आज यह तय हो जाएगा कि किस दल से कितने मंत्री होंगे. और नयी सरकार का स्वरूप क्या होगा. आज कल में मंत्रियों के नाम पर मुहर लग जाएगी.

बता दें कि सोमवार शाम 4.30 बजे नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया जाएगा. जिसके लिए नीतीश कुमार ने आज राजभवन जाकर राज्यपाल फागू चौहान को सरकार बनाने का दावा पेश किया. इनके साथ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल, आरसीपी सिंह और वशिष्ठ नारायण मौजूद रहे.

16 नवंबर को नीतीश कुमार 7वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. लेकिन डिप्टी सीएम कौन होगा इसपर अभी भी सस्पेंस बरकरार है. बगैर सुशील मोदी नीतीश कुमार सरकार बनाने का दावा पेश करने राजभवन पहुंचे थे.

उधर स्टेट गेस्ट हाउस में सुशील मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, देवेंद्र फडणवीस और भूपेंद्र यादव के साथ लंबी बातचीत हुई. इसके बाद देवेन्द्र फडणवीस और भूपेन्द्र यादव नीतीश कुमार से मिलने एक अणे मार्ग पहुंचे. जहां पर पहले से ही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल मौजूद हैं.

नीतीश कुमार के साथ सुशील मोदी का ना होना कई तरह से सवालों को खड़ा करता है. हालांकि बीजेपी विधायक दल की बैठक में सुशील मोदी विधानमंडल दल का नेता चुन लिए गए हैं. जबकि बीजेपी विधायक दल के नेता तारकेश्वर प्रसाद चुने गए है. कटिहार सदर से विधायक हैं तारकेश्वर प्रसाद. वहीं रेणु देवी विधायक दल का उपनेता चुनी गयी है.