‘उन लोगों ने 15-15 साल में जो नहीं किया, उसे मैं 15 महीने में करके दिखाऊंगा’, मुजफ्फरपुर के कुढ़नी में बोले उपेन्द्र कुशवाहा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  मुजफ्फरपुर के कुढ़नी विधानसभा क्षेत्र से जीडीएसएफ समर्थित रालोसपा प्रत्याशी  रामबाबू सिंह के लिए उपेन्द्र कुशवाहा ने चुनाव प्रचार किया. विधानसभा क्षेत्र में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कुशवाहा ने लालू-राबड़ी और नीतीश कुमार के शासनकाल पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि दोनों भाईयों ने मिलकर बिहार का 30 साल बर्बाद करने का काम किया है.

उन्होंने कहा कि दोनों भाइयों ने वोट आपका लिया, लेकिन आपके विकास के लिए कोई काम किया. 15-15 साल दोनों ने बिहार की बागडोर संभालने का काम किया. एक ने अपने परिवार का विकास किया, दूसरे ने विकास करने का सिर्फ दिखावा किया. जिस समाज का इन लोगों ने वोट लेने का काम उसकी ही उपेक्षा की गयी



लेकिन मेरी सरकार बनती है तो हर वर्ग के लोगों को सत्ता में सही भागीदारी दी जाएगी. एक अणे मार्ग में अगर हम बैठेंगे तो समाज के हर तबके से चार डिप्टी सीएम बनाया जाएगा. दलित, अल्पसंख्यक, पिछड़ा और अगड़ी जाति से एक-एक डिप्टी सीएम होंगे. चार डिप्टी सीएम में एक महिला जरूर होगी.

वहीं तेजस्वी के 10 लाख की नौकरी देने की घोषणा पर कटाक्ष करते हुए कुशवाहा ने कहा कि जब उनकी सरकार थी तो क्यों नहीं युवाओं को नौकरी दी गयी. उनके हाथ को किसने रोक रखा था. पुराने 15 साल वाले के समय में अच्छी शिक्षा नहीं थी, इसलिए उनके बच्चे 9वीं पास भी नहीं कर सका.

उन्होंने कहा कि बाद वाले के 15 साल के शासनकाल में भी शिक्षा के स्तर में कोई सुधार नहीं किया गया. पैसे वाले लोगों के लिए शिक्षा आसान है. लेकिन गरीब के बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ना मजबूरी है. लेकिन सरकारी स्कूलों की स्थिति दोनों ने बर्बाद करने का काम किया.

दोनों ने 30 साल बर्बाद कर दिया. आप जाग जाइए, आगे नौजवान के भविष्य को बर्बाद होने से बचा लीजिए. अब इंतजार मत कीजिए. 15-15 साल बड़े भाई और मंझले भाई को आपने दिया. पांच साल इस छोटे भाई को दीजिए. इन लोगों ने जो काम 15-15 साल में नहीं किया वो मैं 15 महीने में करके दिखाऊंगा.

किसान बेहाल है, मजदूरी देने में सारा पैसा चला जाता है. अगर हमारी सरकार बनती है तो मजदूरी का पैसा बिहार सरकार वहन करेगी. तब जाकर किसानों को ज्यादा से ज्यादा फायदा मिलेगा. बिहार में रोजगार उत्पन्न किया जाएगा. ताकि यहां के नौजवान को रोजी-रोटी के लिए बाहर नहीं जाना पड़े.

महाराष्ट्र, आंध्रा के भाईयों को जब वहीं पर रोजगार मिल सकता है तो बिहार के युवाओं को यहीं रोजगार क्यों नहीं मिल सकता है. सब कुछ हो सकता है, निराश होने की जरूरत नहीं है. मुझे पांच साल दीजिए. इन लोगों ने 15-15 साल में जो नहीं किया मैं 15 महीने में करके दिखाउंगा. आप अगर ताकत देंगे तो मेरा यह अभियान एक अणे मार्ग में जाकर रूकेगा. सभी वर्ग के लोगों से आग्रह है कि आप लोग जीडीएसएफ को वोट करें.