जीतूंगा मैं, तभी पहनूंगा जूता या चप्पल. लोजपा के इस प्रत्याशी ने ठान लिया…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लोजपा के इस प्रत्याशी ने ठान लिया है, 10 नवंबर के बाद ही पैरों में जूता या चप्पल पहनेंगे. इनको इनता विश्वास भी है कि लोग इनको इस बार अपना आर्शीवाद जरूर देंगे. जनता का आर्शिवाद मिलने के बाद ये क्षेत्र के विकास के काम में जुए जाएंगे. इतना ही नहीं उन्होंने अपने क्षेत्र की जनता से जो वादा किया है, उसे पूरा करके भी दिखाने की बात कह रहे हैं.

दरअसल यह हैं मधेपुरा से लोजपा प्रत्याशी साकार यादव. इन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान ही जनता से वादा किया था कि वो अपने पैरों में चुनाव परिणाम तक जूता चप्पल नहीं पहनेंगे. अगर जनता अपना आर्शिवाद देती है तो 11 तारीख से अपने पैरों में जूता चप्पल पहनकर क्षेत्र के विकास के कामों में लग जाएंगे. इतना ही मधेपुरा की सारी समस्या को बतौर विधायक समाधान करने का भी इन्होंने जनता से वादा किया है.



वहीं मधेपुरा में दोपहर तक मतदान प्रतिशत कम होने पर साकार यादव ने कहा कि लोगों में वर्तमान विधायक और सरकार के खिलाफ गुस्सा है. इसी की परिणती है कि लोग कम वोट देने अपने घरों से निकल रहे हैं. जो लोग भी वोट कर रहे हैं वो बदलाव के लिए वोट कर रहे हैं. बीजेपी, जेडीयू या आरजेडी के प्रति लोगों में गुस्सा है. मुझे विश्वास है कि इस बार जनता हमें अपनी सेवा करने का मौका जरूर देगी.

बता दें कि आज तीसरे और आखिरी चरण के लिए वोट के जा रहे हैं. 15 जिलों के 78 सीटों के लिए वोटिंग हो रही है. 12 मंत्री समेत 1204 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज ईवीएम में बंद हो जाएगा. इसी के साथ बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के मतदान कार्य संपन्न हो जाएगा. अब सभी की निगाहें 10 नवंबर को होने वाली मतगणना पर टिकी हुई है.