बिहार के IAS जितेंद्र झा दिल्ली से लापता, अपहरण की आशंका

लाइव सिटीज डेस्क : आईएएस जितेंद्र कुमार झा नई दिल्ली के द्वारका इलाके से लापता हो गए हैं. वे 3 दिन पहले मॉर्निंग वाक पर घर से निकले थे , लेकिन वापस नहीं आए. वे प्रतिदिन मॉर्निंग वाक को जाते थे . बहुत खोजे जाने पर भी आईएएस जितेंद्र का अब तक कोई सुराग नई दिल्ली में नहीं मिल सका है. लापता जितेंद्र कुमार झा मूल रुप से बिहार के सुपौल जिला के रहने वाले हैं. दिल्ली पुलिस और जितेंद्र के परिजनों के रिक्वेस्ट पर तलाश बिहार में भी शुरु कर दी गई है.

आईएएस जितेंद्र के लापता होने पर उनकी पत्नी भावना झा ने आरोप लगाया है कि सरकार ने एचआरडी मिनिस्ट्री में तैनाती से पहले चार साल में उनका छह बार ट्रांसफर किया था. इस कारण वह काफी दबाव में थे. आईएएस जितेंद्र की पत्नी किडनैपिंग की भी आशंका जता रही हैं. उन्होंने बिहार पुलिस से अपने पति की तलाश में मदद मांगी है .



पत्नी भावना झा के साथ आईएएस जितेंद्र कुमार झा (फाइल फोटो)

बता दें कि आईएएस जितेंद्र कुमार झा एचआरडी मंत्रालय से पहले मिनिस्ट्री ऑफ इंन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग, मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंस, मिनिस्ट्री ऑफ लेबर, हेल्थ और सीपीडब्ल्यूडी में रहे चुके थे. ट्रांसफर होने से पहले वह लगातार तीन साल तक होम मिनिस्ट्री में रहे. नई दिल्ली पुलिस के डिस्ट्रिक्ट पुलिस डिप्टी कमिश्नर ने छह टीमों का गठन कर झा की तलाश शुरू कर रखी है.

इन जांच टीमों ने तीन दर्जन से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की फुटेज जब्त की है. इसकी जांच में एक रेस्टोरेंट की फुटेज में जितेन्द्र जाते दिखाई दे रहे हैं. लेकिन जिस रास्ते पर वह जा रहे हैं वह मेट्रो की ओर नहीं जा रहा. ऐसे में पुलिस मान कर चल रही है कि वह मेट्रो से कहीं नहीं गए. जबकि मंगलवार को आईटीएल स्कूल की फुटेज के बाद माना जा रहा था कि उन्होंने मेट्रो पकड़ी है. इसके बाद पुलिस ने मेट्रो प्रशासन से आसपास के स्टेशनों की फुटेज मांगी थी.

पटना में हो सकते हैं जितेंद्र

दिल्ली पुलिस के इनपुट के बाद बिहार पुलिस IAS जितेन्द्र की तलाश में जुट गई है. बिहार के डीजीपी पीके ठाकुर ने भरोसा दिलाया है कि आईएएस जितेंद्र को खोजने में बिहार पुलिस कोई कसर नहीं छोड़ेगी. ऐसे में पटना के गांधी संग्रहालय के पास उन्हें देखे जाने का इनपुट मिला है. लेकिन पुलिस मौके पर पहुंची तो कोई नहीं मिला. ऐसे में पुलिस ने गांधी संग्रहालय के पास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच शुरू कर दी है. इतना ही नहीं बिहार पुलिस जितेन्द्र के रिश्तेदारों के घर पहुंच कर उनके बारे में जानकारी जुटा रही है.