मैंने शराबबंदी की तो कुछ लोगों को मुझसे ज्यादा चिढ़ हो गया है, वैशाली की सभा में बोले नीतीश कुमार- मैं इनकी परवाह नहीं करता…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : वैशाली में जेडीयू प्रत्याशी सिद्धार्थ पटेल के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनावी सभा की. जिले के प्रेमराज स्कूल मैदान में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कोई काम ये लोग करते हैं, ये लोग अपने बारे में, अपने परिवार के बारे में सोचते हैं, लेकिन हमारे लिए पूरा बिहार मेरा परिवार है. कुछ लोग हवाबाजी में ऐसे ही बोलते रहेगा. जब काम करने का मौका मिला तो कुछ कर नहीं पाया. हमसे तो बहुत लोगों को चिढ़ है, महिलाओं के कहने पर हमने शराबबंदी लागू किया. चिढ़ रखने वाले लोग मेरे खिलाफ अभियान चलाता है.

वो अभियान चलाते हैं कि मैं किसी तरह हट जाऊं और वो अपने मंसूबे में कामयाब हो जाए. लेकिन जब तक जनता चाहेगी तब तक उनके मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंगे. जनता मालिक है, वो जो चाहेगी वहीं होगा. हमने तो महिलाओं को कहने पर प्रदेश में शराबबंदी लागू किया, लेकिन इनलोगों को रास नहीं आ रहा है.



पहले कहां कोई सरकारी अस्पताल चलता था. पीएचसी में पहले एक महीना में 39 लोग जाते थे इलाज कराने. अब एक महीने में पीएचसी में इलाज के लिए 1 हजार लोग जाते हैं. क्या अपराध की स्थिति थी, शाम होने के बाद कोई घर से बाहर नहीं निकलने की कोशिश करता था. कोई दावा नहीं कर सकता है कि अपराध से पूरी तरह मुक्ति मिल सकती है. कुछ लोग गड़बड़ी तो जरूर करता है.

जब से हमलोगों को काम करने का मौका मिला तब से विकास का काम कर रहे हैं. महिला, दलित, पिछड़ा, अति-पिछड़ा समेत अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों विकास का भागीदार बनाया गया. साइकिल, पोशाक योजना चलाकर लड़कियों को पढ़ने के लिए जागरूक किया गया. जीविका समूह से जुड़ी महिलाएं जागरूक हो गयी हैं.

2009 में बिहार का विकास दर देश में सबसे अधिक हो गया था. आज प्रति व्यक्ति आय और विकास दर हर साल बढ़ रहा है. इंजीनियरिंग कॉलेज, पोलिटेक्निक कॉलेज, महिला आईटीआई, जीएनएम संस्थान, मेडिकल कॉलेज खोले गए. सभी मेडिकल कॉलेज में नर्स की पढ़ाई का इंतजाम किया गया है.

गरीब युवाओं के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, स्वयं सहायता भत्ता के माध्यम से 2 साल तक 1-1 हजार रूपया का सहयोग, संवाद कौशल, कुशल युवा कार्यक्रम चलाकर युवाओं को रोजगार योग्य बनाया गया. पुलिस बल में महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण दिया गया.

पहले शहर तक में बिजली नहीं मिलती थी ठीक से, लेकिन आज हर घर तक बिजली पहुंचा दिया गया. पहले 700 मेगावाट खपत थी, अब बिजली की खपत 6000 मेगावाट पहुंच गया है. लालटेन युग खत्म हो गया. 83 फीसदी हर घर नल का जल पहुंच गया. हर घर तक पक्क गली और नाली का निर्माण कराया गया.

अगली बार मौका मिला तो हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगायी जाएगी. 8-10 पंचायत पर एक पशु अस्पताल का निर्माण किया जाएगा, जहां पर नयी टेक्नोलॉजी के माध्यम से पशुओं का इलाज किया जाएगा. पशुओं का दवा मुफ्त दी जाएगी.