करोड़ों के अवैध पटाखे जब्त, कारोबारियों का हंगामा

पटना: बिना लाइसेंस के पटाखा दूकानों पर कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को पुलिस ने कई पटाखा गोदामों पर छापेमारी की। पुलिस प्रशासन की टीम ने आतिशबाजी की मंडी banglore-saree-house-23.jpgखाजेकलां में बने पटाखा के गोदाम में छापेमारी की। छापेमारी के लिए पहुंची प्रशासन की टीम को विरोध व हंगामे का सामना करना पड़ा।

करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद भी जब मकान के अंदर बने गोदाम का दरवाजा नहीं खुला, तो पुलिस ने गेट का ताला तोड़ कर घर में प्रवेश किया और अवैध रूप से रखे गये करोड़ों के पटाखे जब्त किये। पुलिस के मुताबिक पटाखा गोदाम को शील कर दिया गया है, कारोबारियों के खिलाफ बारूद एक्ट के तहत क़ानूनी करवाई की जाएगी।

गोदाम में छापेमारी के लिए पहुंची टीम में सिटी एसपी पूर्वी सायली, एसडीओ योगेंद्र सिंह व डीएसपी हरि मोहन शुक्ला विभिन्न थानों की पुलिस के साथ पहुंची। जब टीम खाजेकलां घाट रोड स्थित नवाब मंजिल में आवास सह गोदाम में मो रिजवान के यहां छापेमारी को पहुंची, तो टीम को लगभग दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा। इसके बाद टीम ने ताला तोड़ घर में प्रवेश किया, जहां सजे दुकान व कार्टन में रखे पटाखे को जब्त किया गया। कार्रवाई के विरोध में लोगों ने विरोध शुरू कर दिया।

vlcsnap-2016-10-08-09h30m12s194

छापेमारी के विरोध में हंगामा

प्रशासन की कार्रवाई के बाद आक्रोशित पटाखा कारोबारियों ने खाजेकलां घाट रोड व खाजेकलां मोड़ के पास सड़क जाम कर हंगामा किया और आगजनी की। लोगों के उग्र तेवर को देख कर बाद में पुलिस ने बल प्रयोग कर खदेड़ दिया। हालांकि,  एसडीओ व पुलिस ने बल प्रयोग की घटना से इनकार किया है।

vlcsnap-2016-10-08-09h34m13s4

मीडिया से बदसलूकी

छापेमारी के दौरान कवरेज करने गए मीडियाकर्मियों पर पटाखा कारोबारी भड़क उठे। कारोबारियों ने मीडिया की कवरेज करने से साफ़ मना किया। उनके मना करने के बावजूद भी जब लाइव सिटीज के संवाददाता प्रवीणकांत ने कवरेज करना चाहा तो उनके साथ धक्का मुक्की की गई। हालाकि धक्का मुक्की में प्रवीण को चोट नहीं आई।

4 अक्टूबर को पुलिस ने चलाया था अभियान

बताते चलें कि बीते चार अक्तूबर को प्रशासन की टीम ने खाजेकलां से लेकर मच्छरहट्टा के बीच में आतिशबाजी की दुकान के खिलाफ अभियान चलाया था। अभियान के क्रम में एक दर्जन दुकानों को प्रशासन ने सील कर दिया था, जबकि नौ दुकानदारों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। गिरफ्तार दुकानदारों की जमानत शुक्रवार को हुई थी। इससे पहले अनुमंडल प्रशासन की ओर से आतिशबाजी के दुकानदारों को नोटिस निर्गत किया गया था।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*