किसी भी सूरत में क्राइम बर्दाश्त नहीं, समीक्षा बैठक में बोले सीएम नीतीश पुलिस अधिकारियों की लगा दी क्लास.

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: बिहार में बढ़ते क्राइम पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काफी गंभीर हो गए हैं. वे हर हाल में चाहते हैं कि क्राइम कंट्रोल में रहे. जनता को दिक्कत नहीं हो. वे पहले की तरह शाम हो या रात, बेफिक्री से घूमे. बिहार में बेलगाम हो रहे अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को फिर सीनियर पुलिस अधिकारियों के संग बैठक की. वे क्राइम कंट्रोल को लेकर कितने गंभीर हो गए हैं, इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि एक महीने में उनकी यह तीसरी बैठक थी.

सीएम आवास स्थित नेक संवाद में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दो टूक कह दिया है कि क्राइम किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं होगा. उन्होंने पुलिस अफसरों से यह भी कहा कि वे क्राइम कंट्रोल के लिए पूरी मजबूती से काम करें. कानून का राज है और सरकार की यह पहली जिम्मेवारी भी है कि लॉ एंड ऑर्डर का सख्ती से पालन हो.



बता दें कि तीन दिन पहले 9 दिसंबर को भी मुख्यमंत्री ने लॉ एंड ऑर्डर को लेकर बैठक की थी. लेकिन यह दुखद रहा कि बैठक के समय ही दरभंगा में पांच करोड़ गहने की डकैती हो गई. पहले तो 10 करोड़ की चर्चा हुई. बाद में आकलन किया गया तो 14 किलो सोने लूटे जाने की बात आई. लेकिन बदमाशों से भागते समय एक बैग छूट गया था. पुलिस ने दूसरे दिन बैग खोला तो उसमें साढ़े तीन किलो सोने के गहने मिले. तब पता चला कि अपराधियों के हाथ 5 करोड़ के गहने लगे. 

आज हुई बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जिलों के डीएम व एसपी भी जुड़े थे. जबकि यहां डीजीपी समेत अन्य वरीय अधिकारी मौजूद रहे. मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले के बड़े पुलिस अधिकारियों को भी काम में लापरवाही का खामियाजा भुगतना पड़ेगा. क्राइम बढ़ने पर उनके ऊपर भी अब कार्रवाई की गाज गिरेगी. क्राइम कंट्रोल की जिम्मेवारी सिर्फ थाना की नहीं है. सीनियर अफसरों को भी सब कुछ देखना है. उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से बिहार को विकसित राज्य बनाएंगे.