पूर्वी चंपारण के नरकटिया में नीतीश कुमार ने हाथ जोड़कर कहा- कृपया यह काम आप सब ना करें…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पूर्वी चंपारण के नरकटिया में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मंच से नीतीश कुमार ने जनता से हाथ जोड़कर कहा कि कुछ लोग समाज में फिर से विद्वेश फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. समाज को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. आप लोग ऐसे बहकावे में ना आए. समाज में भाईचारा, प्रेम बरकरार रहना चाहिए. मेरे लिए पूरा बिहार एक परिवार है. लेकिन किसी के लिए पति-पत्नी, बेटी-बेटी ही पूरा बिहार है. हम विवाद के चक्कर में नहीं जाते, समस्याओं का निपटारा करने में विश्वास करते हैं.

दरअसल पूर्वी चंपारण के नरकटिया से एनडीए के जेडीयू प्रत्याशी श्याम बिहार प्रसाद के लिए नीतीश कुमार ने चुनावी सभा की. इस दौरान उन्होंने अपने 15 साल के कार्यो को गिनाते हुए आरजेडी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर बिहार में विकास करने का काम किया है. आगे अगर मौका मिलेगा तो इस विकास की रफ्तार को और आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा.



पूर्वी चंपारण के पवित्र धरती को प्रणाम करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि हमने समाज के हर तबके, हर वर्ग, महिलाएं, पिछड़ा, अति पिछड़ा, अल्पसंख्यक समुदाय, महादलित वर्ग के लोगों के विकास करने का काम किया. काम के कारण समाज में एक बेहतरमाहौल बना.

पहले के शासनकाल पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले की हालत किसी से छिपी नही है. अपराध चरम पर था. लोग शाम होते अपने घरों से नहीं निकलते थे. हम लोगों ने सबसे पहले अपराध पर अंकुश लगाने का काम किया. लगातार काम करने के कारण आज बिहार 23वें नबंर है.

दारूबाज धंधेबाज हमसे काफी दुखी रहता है. महिलाओं के कहने पर हमने शराबबंदी किया तो ये लोग मुझसे काफी खफा हो गए. लगातार मेरे खिलाफ षड़यंत्र रचते हैं. लेकिन मुझे इसकी चिंता नहीं है. न्याय के साथ हमने विकास करने का काम किया. हमने सेवा किया है.

जल जीवन हरियाली योजना के लिए 24 हजार करोड़ की योजना की शुरूआत की है. जल हैं तो जीवन है इसी ध्येय से इस योजना की शुरूआत की गयी. बिहार के काम को बहुत लोग नजर अंदाज करते हैं. लेकिन बिहार के काम की चर्चा विदेशों में होती है. 24 सितंबर को यूनाइटेड नेशन में हमने जल जीवन हरियाली के बारे में पूरे विश्व को जानकारी दी.

हर जिले में संस्थान की स्थापना की गयी. मेडिकल कॉलेज की स्थापना की गयी. गरीब युवाओं को उच्च शिक्षा के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना चलायी गयी. बाहर काम करने जा रहे युवाओं को स्वयं सहायता भत्ता योजना के तहत 2 साल तक 1-1 हजार रूपया दिया जा रहा है. पंचायती राज और नगर निकाय चुनाव में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण और सरकारी सेवाओं में 35 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया.

पहले लालटेन का जमाना था. गांव तो छोड़िए शहरों में बिजली नहीं मिलती थी. पति-पत्नी का राज था लेकिन विकास का कोई काम नहीं किया गया. पहले 700 मेगावाट बिजली की खपत थी. आज 6000 मेगावाट बिजली खपत हो रही है. अब तो खेती के लिए बिजली लोग ले रहे हैं.

हर घर नल का जल, हर घर तक पक्की गली और नाली का निर्माण कराय गया. जो हमने वादा किया उस काम को पूरा किया गया. हमरा यकीन नहीं है बोलने में. कुछ लोगों को बोलने का ही काम चलता है. हम जब भी योजना बनाते है उसको देखने जमीन पर जाते हैं.

हमने हर घर बिजली पहुंचा दिया, लालटने का जमाना खत्म हो गया. आगे हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगायी जाएगी. हर खेत तक पानी पहुंचाया जाएगा. 8-10 पंचयात पर एक पशु अस्पताल खोला जाएगा. जहां पर पशुओं की दवा मुफ्त दी जाएगी.

हर जिले में मेगा स्कील सेंटर खोला जाएगा. नई तकनीक से इंसान और पशुओं का इलाज किया जाएगा. कई गांव को जोड़ते हुए मुख्य मार्ग के जोड़ा जाएगा. जहां जमीन नहीं मिलेगा वहां फ्लाई ओवर बनाया जाएगा.