बिहार का भाग्य बदलेगा 2020 का चुनाव, बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में देवेन्द्र फडणवीस ने महागठबंधन की उखेड़ी बखियां..

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बीजेपी ने विधानसभा चुनाव की तैयारी की रफ्तार तेज कर दी है. पार्टी के बड़े से छोटे नेता अब बिहार की ओर कूच करने लगे है. पार्टी प्रत्याशी से लेकर बूथ तक की तैयारी पर पार्टी में विस्तार से चर्चा की जा रही है.

विधानसभा चुनाव तैयारी को लेकर पार्टी प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को बिहार बीजेपी के चुनाव प्रभारी देवेन्द्र फडनवीष ने संबोधित किया. वर्चुअली रूप से संबोधित करते हुए देवेन्द्र फडनवीष ने कहा कि लालू राबड़ी के 15 साल के शासनकाल के कारण बिहार 25 साल पीछे चला गया.



लेकिन जैसे ही 2005 में बिहार में एनडीए की सरकार बनी तो विकास का काम शुरू हो गया. पिछले 15 सालों से बेपटरी हो चुकी बिहार को विकास की पटरी पर लाने का प्रयास किया गया.

वहीं बीजेपी की उपलब्धियों को बताते हुए फडनवीश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर को आजादी दिलायी, राम मंदिर बनाया, भारत को सशक्त बनाने का काम किया. इन सभी कार्यो में बिहार के लोगों का भरपूर सहयोग मिला. बीजेपी के कार्यकर्ता कोरोना और बाढ़ जैसी विभिषिका में लोगों की मदद कर रहे है.  

बिहार के स्वर्णिम काल का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में 2020 का चुनाव काफी महत्वपूर्ण है. बिहार में स्वर्णिम काल देखा है उसी स्वर्णिम काल तक हम उसे ले जाना चाहते हैं. बिहार में सबसे ज्यादा युवाओं की संख्या है. बिहार में 58 फीसदी आबादी 25 साल से कम उम्र के युवाओं का हैं.

वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि  बिहार में एनडीए सरकार को फिर से 3 चौथाई सीट से जीताने का काम करना है. आरजेडी की सरकार ने बिहार को गर्त में पहुंचाने का काम किया. लेकिन एनडीए की सरकार ने बिहार में विकास करके दिखाया.

प्रदेश कार्यसमिति को संबोधित करते हुए मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि देश की आजादी के बाद जिनके ऊपर देश चलाने की जिम्मेदारी थी उन्होंने देख को लूटने का काम किया. राम मंदिर को बनाने के लिए रथ निकला था उसे बिहार के उस समय की मौजूदा सरकार ने रोकने का काम किया था.

मंत्री नंदकिशोर किशोर यादव ने संबोधन भाषण में महागठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस और आरजेडी के बीच कोई गठबंधन नहीं हैं, यह ठगों का बंधन है.