यात्रीगण ध्यान दें, आपके कन्फर्म टिकट को वेटिंग में डाला जा रहा है, अब फजीहत झेलें

लाइव सिटीज डेस्क : रेलवे की अगर कोई खबर हो तो सबसे पहले रेल हादसे की ख़बरें ही जेहन में आती आती है. लेकिन अब रेल यात्रियों के लिए टिकट बुकिंग  भी सिर दर्द बनने लगा है. दरअसल लोग टिकट बुक करा रहे हैं. रेलवे उस टिकट को कन्फर्म कर रहा है फिर यात्रा वाले दिन वेटिंग में डाल दे रहा है. इससे लोगो को खूब फजीहत हो रही है.

पिछले दिनों ऐसे कई मामले सामने आए हैं. इतना ही नहीं, ऐसे यात्रियों को वेटिंग टिकट रद्द कराने के बहुत कम पैसे वापस मिल रहे हैं. 30 सितंबर को अमृतसर जाने के लिए महीने भर पहले टिकट कराने वाले सिद्धार्थ दीक्षित ने बताया कि उन्होंने अमृतसर शताब्दी में टिकट बुक कराया था. 29 सितंबर की रात को उनका टिकट कन्फर्म हो गया था. टिकट कन्फर्म होने के बाद दीक्षित परिवार ने जाने की पूरी तैयारी कर ली. 30 सितंबर सुबह 4:30 बजे रेलवे से संदेश आया कि आपका टिकट प्रतीक्षा सूची में है.

सिद्धार्थ को झटका लगा. वे यकीन ही नहीं कर पाए कि एक बार कन्फर्म होने के बाद टिकट  प्रतीक्षा सूची में कैसे जा सकता है. इस पर उन्होंने स्टेशन जाकर जांच करने का प्रयास किया. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की 65 नंबर खिड़की से उन्हें सिर्फ इतना बताया गया कि ट्रेन में कोच कम हैं, इसीलिए उनके टिकट को प्रतीक्षा सूची में डाला गया है. स्टेशन मास्टर को भी इस संबंध में कुछ नहीं पता था. बाद में उन्हें बताया गया कि उनका टिकट रद्द कर दिया गया है. रद्द टिकट में भी उनके खूब पैसे काट लिए गए. टिकट बुक कराने में 2005 रुपए खर्च हुए थे लेकिन वापस मिले केवल 1,245 रुपए.

एक अन्य यात्री शुभ्रा मिश्र ने बताया कि उनके साथ भी ऐसा वाकया हुआ है. उन्हें भी पिता और बहन के साथ अमृतसर जाना था. इंटरनेट पर टिकट को कन्फर्म बताया गया, लेकिन यात्रा वाले दिन टिकट फिर से प्रतीक्षा सूची में दिखाई देने लगा. स्टेशन पहुंचने पर पता चला कि उनका टिकट भी रद्द हो गया है. शुभ्रा को यह यात्रा बहुत ही महंगी पड़ी.उन्होंने टैक्सी से जाने का विकल्प चुना जिसमें करीब 15000 रुपए किराया लगा. शुभ्रा ने टिकट पर 1650 रुपए खर्च किए थे, लेकिन वापस मिले सिर्फ 1080 रुपए. कुछ और यात्रियों ने भी बताया कि उनके साथ भी पहले ऐसे वाकये हो चुके हैं.

उत्तर रेलवे के मुख्य प्रवक्ता नीरज शर्मा ने बताया कि इस तरह की दिक्कत कोच की उपलब्धता न होने से आती है. आमतौर से अतिरिक्त कोच लगाकर बचे यात्रियों का भी समाधान कर दिया जाता है, लेकिन शनिवार को कोच उपलब्ध न होने के कारण यह मुश्किल आई. आगे ऐसी दिक्कत न हो इसके लिए जरूरी निर्देश दे दिए गए हैं. साथ ही यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया है कि जितने नियमित कोच हों उतने ही टिकट बुक किए जाएं.

यह भी पढ़ें-  जब तक रेलवे में सुधार नहीं होगा, बुलेट ट्रेन के लिए एक ईंट भी नहीं रखने देंगे

रेलवे दे सकती है बड़ी खुशखबरी, कम हो सकते हैं किराये

मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)