ट्रेनों के गार्ड को अब और नहीं ढोना पड़ेगा बक्सा, रेलवे इनके हाथों में देगा टैब, ट्राली बैग

लाइव सिटीज डेस्क : भारतीय रेल जहां यात्रियों की सुविधा का ख्याल रखने में लगा है वहीं रेल कर्मियों के लिए भी कई ठोस कदम उठा रहा है. रेलवे ने ट्रेन के गार्ड को स्मार्ट बनाने का प्लान किया है. इसकी शुरुआत भी अब कर दी गई है. समस्तीपुर रेल मंडल में इसकी शुरुआत कर दी गई है. मंडल रेल प्रबंधक रविन्द्र कुमार जैन ने गुरुवार की रात हमसफर एक्सप्रेस के गार्ड नंद कुमार लाल को ट्रॉली बैग व टैब दिया.

समस्तीपुर रेल मंडल में अब गार्ड को बक्सा की जगह पर ट्रॉली बैग दिया जा रहा है. जिसे लेकर गार्ड आसानी से ट्रेन में सवार हो सकेंगे. टैबलेट में संरक्षा के सभी नियमों को अपलोड किया गया है. जरूरत के अनुसार वे इसे देख और प्रयोग में ला सकते हैं.

बता दें कि अभी तक ट्रेन के गार्ड बक्सा लेकर चलते हैं. इससे उन्हें काफी परेशानी होती है. बक्सा को उतारने-चढ़ाने के लिए पोर्टर की मदद लेनी पड़ती है. नई व्यवस्था लागू होने के बाद गार्ड खुद अपना बैग लेकर चल सकेंगे. अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही इस बक्सा व्यवस्था को बाय-बाय करने की तैयारी रेलवे ने पूरी कर ली है.

रेल यात्रियों को ID प्रूफ रखने का झंझट खत्म, अब DigiLocker के डाक्यूमेंट्स भी होंगे वैलिड

गार्ड के ट्रॉली बैग में टैबलेट के अलावा अति आधुनिक उपकरण व फर्स्ट एड के सामान भी होंगे. इसके लिए रेलवे बोर्ड ने दिशा-निर्देश जारी कर दिया है. गार्ड के लिए ट्रॉली बैग लेकर चलना आसान होगा. अलग से पोर्टर रखने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. गार्ड बैग को लॉबी में भी रख सकते हैं या फिर अपने घर भी ले जा सकते हैं.

इस बाबत रेल प्रबंधक  ने बताया  कि समस्तीपुर रेल मंडल में गार्ड को ट्रॉली बैग देने की शुरुआत कर दी गई है. पहला ट्रॉली बैग हमसफर एक्सप्रेस में ड्यूटी कर रहे गार्ड एनके लाल को दिया गया है. आने वाले समय में अन्य गार्ड को भी ट्रॉली बैग उपलब्ध कराए जाएंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*