नेताओं की सुरक्षा को लेकर खुफिया विभाग ने जारी किया अलर्ट, पीएम की सभा में आतंकी-नक्सली हमले का खतरा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में चुनाव प्रचार जोरों पर है. इसे लेकर बड़े-बड़े नेताओं को दौरा चल रहा है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस, कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल की सभाएं हो रही हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का भी चुनावी दौरा विगत एक सप्ताह से जारी है. इसी कड़ी में 23 अक्टूबर से पीएम नरेंद्र मोदी और कल से यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी बिहार आएंगे. 23 अक्टूबर को ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी आने वाले हैं. लेकिन इसी बीच खुफिया रिपोर्ट में चुनावी सभाओं पर हमले की आशंका जताई गई है. इसे लेकर पुलिस अलर्ट हो गई है.

पुलिस मुख्यालय ने अलर्ट जारी करते हुए प्रदेश के सभी जिलों के एसपी और सभी रेंज के आइजी-डीआइजी को भी निर्देश दिए गए हैं. खुफिया इनपुट के आधार पर पुलिस मुख्यालय ने विशेष एहतियात बरतने के जिलों को कहा गया है. आइजी-डीआइजी से लेकर सभी 40 जिलों के एसएसपी-एसपी को विशेष सतर्कता की चेतावनी दी गई है. बता दें कि बिहार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चार दिनों में 12 रैलियां करेंगे, जबकि योगी आदित्यनाथ 18 रैलियां 6 दिनों में करेंगे. इसी तरह राहुल गांधी भी पहले दिन कहलगांव व हिसुआ में रैली करने वाले हैं. बताया जाता है कि नरेंद्र मोदी पहली रैली में लगभग सवा सात घंटे बिहार में रहेंगे.



27 अक्टूबर को हुआ था गांधी मैदान में बम विस्फोट

गौरतलब है कि जब नरेंद्र मोदी की हुंकार रैली पटना में हुई थी, वह तारीख थी 27 अक्टूबर 2013. उस दिन पटना के गांधी मैदान में सभा के पहले सीरियल बम ब्लास्ट हुआ था. इस मामले के तार बिहार के कई जिलों से जुड़े थे. उस समय मोदी प्रधानमंत्री नहीं बने थे. वह यहां अगले साल होने वाले चुनाव के लिए रैली करने आये थे. उनकी सुरक्षा में हुई चूक की वजह से कई नपे भी थे.