पूर्व IPS ने कहा- सुना है संघी कामसूत्र का पवित्र वर्जन ला रहे हैं…

लाइव सिटीज डेस्क : भाजपा और संघ के खिलाफ लगातार लिखने वाले 1988 बैच के पूर्व आईपीएस ऑफिसर संजीव भट्ट ने फिर से एक विवादित ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में आरएसएस पर कटाक्ष किया है.  संजीव भट्ट ने लिखा है कि सुना है कि मनुस्मृति की तरह संघ के लोग भी कामसूत्र का पवित्र वर्जन ला रहे हैं.  

संजीव भट्ट ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘ अभी अभी सुना है कि मनुस्मृति की तरह संघी कामसूत्र का भी पवित्र वर्जन ला रहे हैं वे लोग इसे काउमसूत्र कहेंगे.’ उनके इस ट्वीट का सीधा मतलब  गाय के मुद्दा से था. संघ हमेशा से गौ रक्षा की बात करता रहा है. गौ हत्या रोकने के लिए संघ कई तरह के हथकंडे अपनाता है. गौ रक्षा के नाम पर देश में बर्बरता भी बढ़ी है. कई हत्याएं भी होने लगी है. 

तो इसी मुद्दे को केंद्र में रख कर संजीव भट्ट ने कामसूत्र के साथ गाय को भी जोड़ दिया है. उनके इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें खूब खरी खोटी सुनाई. संजीव भट्ट पहले भी बीजेपी, केन्द्र सरकार और आरएसएस के खिलाफ ट्वीट कर चुके हैं.

एक यूजर ने लिखा है कि पता नहीं ऐसे सनकी लोग हमारे महान देश के साथ क्या करना चाहते हैं. एक यूजर का कहना है कि आप किस दुनिया में हो मिस्टर भट्ट इनलोगों ने पहले से ही काउमसूत्रा तैयार कर लिया है.

गोपाल नाम के एक यूजर ने लिखा, सॉरी डियर तुम्हारे लिये इससे गंदा शब्द नही मिला, एक यूजर ने लिखा है कि अपने बकवास को जारी रखो तुम केजरीवाल को टक्कर दे रहे हो.

मालूम हो कि कामसूत्र भारत की प्राचीनतम शास्त्रों में से एक है. इस किताब में सेक्स और पारिवारिक जिंदगी से जुड़ी जानकारियां दी गई हैं. इसे महान ऋषि वात्स्यायन ने लिखा है. इस किताब को सेक्स गाइड की तरह भी इस्तेमाल किया जाता है.

बता दें कि संजीव भट्ट 1988 बैच के आईपीएस अफसर हैं. लेकिन सरकार ने उन्हें अनुशासनहीनता के आरोप में बर्खास्त कर दिया है. पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट ने 2002 में हुए गुजरात दंगों के मामले में उस समय की गुजरात सरकार की भूमिका पर सवाल उठाया था. उस समय वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे.

यह भी पढ़ें- तेजस्वी का तंज : कहा- Dear RSS तनिक एको मंत्र ऐसा फूँको ना