लेट नाइट की फ्लाइट से मुंबई से पटना पहुंचे आईपीएस विनय तिवारी, डीजीपी ने खुद किया रिसीव

पटना/अमित जायसवाल : मुंबई में जबरन क्वारेंटाइन किये गए आईपीएस अधिकारी व सिटी एसपी सेंट्रल विनय तिवारी शुक्रवार की देर रात पटना पहुंच गए. आज सुबह में ही बीएमसी ने उन्हें क्वारेंटाइन के 14 दिन पूरा होने से पहले ही मुक्त कर दिया था. आईपीएस विनय तिवारी को रिसीव करने के लिए देर रात को खुद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय पहुंचे थे. मुंबई में बिहार पुलिस की टीम ने जो जांच और कार्रवाई की, उससे डीजीपी काफी खुश हैं.

डीजीपी को एयरपोर्ट पर देख आईपीएस विनय तिवारी ने खुशी जाहिर की. साफ कहा कि वो हमारे अभिभावक हैं. इसीलिए वो लेने आये हैं. पटना एयरपोर्ट पर उतरने के बाद आईपीएस विनय तिवारी ने कहा कि बीएमसी ने मुझे नहीं, बल्कि सिस्टम को क्वारेंटाइन किया था. एक सवाल का जवाब देते हुए विनय तिवारी ने माना कि बीएमसी की हरकतों से उनकी जांच प्रभावित हुई. अगर बीएमसी उन्हें क्वारेंटाइन नहीं करती तो उन 4-5 दिनों में एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के मामले में जांच काफी आगे बढ़ती. कई लोगों से पूछताछ होती. कुछ और नए सबूत जुटाए जाते. लेकिन मुंबई पुलिस और बीएमसी ने बिहार पुलिस की टीम के रास्ते में काफी रोड़ें अटकाए. जिसे सबने देखा है.



गौरतलब है कि आईपीएस विनय तिवारी को मुंबई के गोरेगांव में स्थित गेस्ट हाउस में शनिवार की देर जबरन क्वारेंटाइन किया गया था. पूरे पांच दिन वो क्वारेंटाइन में रहे. इस पर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कड़ी आपत्ति जताई थी. पहले पटना ने आईजी संजय सिंह और फिर एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार ने बीएमसी को प्रोटेस्ट लेटर लिखा था.