BREAKING : चारा घोटाला के दुमका मामले में डॉ. जगन्नाथ मिश्रा बरी, ध्रुव भगत भी रिहा

jagannath-mishraa
जगन्नाथ मिश्रा (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बड़ी खबर आ रही है रांची से. चारा घाटाले के दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में रांची सीबीआई कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. सीबीआई कोर्ट ने बिहार के एक्स सीएम जगन्नाथ मिश्रा को बरी कर दिया गया है. मतलब साफ है कि जगन्नाथ मिश्रा को बड़ी राहत मिल गई है. वहीं पूर्व विधायक ध्रुव भगत, कमिश्नर अधीप चंद्र को भी रिहा कर दिया है. इसके अलावा सप्लायर अजीत शर्मा को दोषी ठहराया गया है. उधर लालू प्रसाद भी रिम्स से कोर्ट के लिए निकल चुके हैं.

मालूम हो कि तत्‍कालीन बिहार (अब झारखंड) के दुमका कोषागार से करीब 3.76 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में दर्ज मुकदमा नंबर आरसी 38ए/96 में लालू प्रसाद, डॉ. जगन्‍नाथ मिश्र, पूर्व सांसद डॉ. आरके राणा व जगदीश शर्मा सहित कुल 31 आरोपी बनाए गए थे. इस मामले में लालू प्रसाद यादव सहित अन्य पर धोखाधड़ी और अन्‍य धाराओं में मुकदमा दर्ज किए गए. इस मामले में सीबीआई कोर्ट ने पांच मार्च को सुनवाई पूरी की थी. केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे पर एफआईआर, भागलपुर में हिंसा फैलाने का है आरोप

इस मामले में लालू यादव पर 96 फर्जी वाउचर के जरिए दिसंबर 1995 से जनवरी 1996 के बीच दुमका कोषागार से 3.76 करोड़ की अवैध निकासी का आरोप है. ये पैसे जानवरों के खाने के सामान, दवाओं और कृषि उपकरण के वितरण के नाम पर निकाले गए थे. उस दौरान पैसे के आवंटन की सीमा अधिकतम एक लाख 50 हजार ही थी. जब यह निकासी हुई थी लालू उस समय मुख्यमंत्री थे. काननू विशेषज्ञों की राय में लालू पर जिन धाराओं में आरोप लगे हैं.

लालू प्रसाद चारा घोटाला में दर्ज मामलों में अब तक तीन में दोषी ठहराए जा चुके हैं. लालू को चाईबासा कोषागार के दो मामलों मामले में पांच-पांच साल तथा देवघर कोषागार मामले में साढ़े तीन साल की सजा मिल चुकी है. वहीं डोरंडा कोषागार से जुड़ा चारा घोटाले का पांचवा मामला सबसे बड़ा है, जिसमें करीब 139.35 करोड़ की अवैध निकासी का आरोप है.

About Md. Saheb Ali 2860 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*