जमुई की जंगल से मिला 40 किलो विस्फोटक, चुनाव में तबाही मचाने की नक्सलियों की कोशिश नाकाम

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  विधानसभा चुनाव को लेकर बिहार में पुलिस की सक्रियता काफी बढ़ गयी है. पुलिस की ओर से धन बल, बाहू बल और माओवादी, नक्सली गतिविधियों पर पैनी निगाह रखी जा रही है. ताकि लोकतंत्र के महापर्व को यह सारे बल प्रभावित ना कर सकें. स्वच्छ, निष्पक्ष चुनाव कराया जा सके.

इसी कड़ी में जमुई पुलिस ने जंगलों में कार्रवाई कर करीब 40 किलो विस्फोटक बरामद किया है. पुलिस ने जिले के झाझा थाना के नक्सल प्रभावित मानिकथान गांव में की गयी. जहां से इतने बड़े पैमाने पर अमोनियम नाइट्रेट बरामद हुआ है.



झाझा विधानसभा सीट पर पहले चरण में ही वोटिंग है. ऐसे में यहां से इतने बड़े पैमाने पर विस्फोटक बरामद होने पर इलाके में माओवादियों की सक्रियता एवं चुनाव के दौरान उनके द्वारा कोई विध्वंसक गतिविधि की संभावना का स्पष्ट संकेत देता है. हालांकि बरामद विस्फोटकों के भंडारण के पीछे नक्सलियों की क्या मंशा अथवा क्या टारगेट था, इसका अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है.

बताया जा रहा है कि पुलिस को दो-तीन दिनों से इस इलाके में वेटरन माओवादी कमांडर पिंटू राणा के मूवमेंट का इनपुट मिल रहा था. जिसके आधार पर इलाके में सर्च अभियान में निकली पुलिस समेत अन्य बलों की संयुक्त टीम को इलाके में विस्फोटक की मौजूदगी की भनक लग गई. जहां पर छापेमारी कर विस्फोटक बरामद किया गया.

जिले के एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने 40 केजी विस्फोटक की बरामदगी की पुष्टि की है. जमुई के एएसपी अभियान सुधांशु कुमार की अगुवाई में चले सर्च अभियान में बटिया स्थित सीआरपीएफ 215 बीएन, झाझा की एसटीएफ चीता 29, जमुई नक्सल सेल एवं क्यूआरटी तथा झाझा के थानाध्यक्ष श्रीकांत कुमार समेत पुलिस फोर्स शामिल थी.