JDA STRIKE LIVE: स्वास्थ्य विभाग पहुंचे जूनियर डॉक्टर, प्रधान सचिव से करेंगे मुलाकात, हड़ताल टूटने के आसार

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : हड़ताली जूनियर डॉक्टरों का एक प्रतिनिधिमंडल स्वास्थ विभाग पहुंचा है. जहां पर विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत से मुलाकात करेंगे. आशंका जतायी जा रही है कि प्रधान सचिव से मुलाकात के बाद हड़ताल खत्म करने पर कुछ बात बन सकती है. प्रधान सचिव ने मौखिक रूप से जूनियर डॉक्टरों की मांग को पूरा करने का आश्वासन दिया था. जबकि हड़ताली डॉक्टर लिखित की मांग पर अड़े हैं.

इसके पहले स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने जूनियर डॉक्टरों से हड़ताल तोड़ने की अपील की है. उन्होंने एक बार फिर हड़ताली डॉक्टरों से अपील करते हुए कहा कि ‘कोई भी काम जनहित को देखकर किया जाना चाहिए’ ‘सरकार इनके विषय परगंभीरता से विचार कर रही है’. मंत्री ने कहा कि उनकी मांगों को लेकर सरकार गंभीर है. जल्द ही उनकी समस्याओं को दूर कर लिया जाएगा. लेकिन हड़ताल का यह सहीं वक्त नहीं है.



बता दें कि इसी हफ्ते जूनियर डॉक्टरों की स्वास्थ्य मंत्री से उनके आवास पर वार्ता हो चुकी है. मंत्री मंगल पांडेय ने प्रधान सचिव ने फोन पर बात की. इस दौरान प्रधान सचिव ने डॉक्टरों से काम पर लौटने की अपील करते हुए कहा कि आपकी मांगों पर सरकार जल्द ही विचार करेगी. इतने के बावजूद भी जूनियर डॉक्टर नहीं माने, वो लिखित आश्वासन की जिद पर अड़े हैं.

आईएमए ने भी जूनियर डॉक्टरों से काम पर लौटने की अपील किया, लेकिन हड़ताली उनकी भी बातों को अनदेखी कर जिद पर अड़े हैं. ऐसे में आईएमए ने एलान किया ही वो जूनियर डॉक्टरों का साथ नहीं देगा. इसके अलावे सरकार ने भी नो वर्क नो पे, कोर्ट में जाने पर विचार समेत कई तरह की चेतावनी दी है. इतने के बावजूद भी डॉक्टर अपनी मांग पर अड़े हुए हैं.

जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का आज 9वां दिन है. पिछले 9 दिन से हड़ताल के कारण बिहार के अस्पतालों में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है. बात करे पटना के पीएमसीएच की तो 9 दिन में करीब 12 से ज्यादा मरीज की मौत हो चुकी है. आधे से ज्यादा मरीज अस्पताल छोड़कर दूसरे अस्पतालों में जा चुके हैं. जबकि कई मरीज गंभीर बीमारी से बिना दवा सुई के ही जंग लड़ रहे हैं.