लोजपा पर जेडीयू और बीजेपी ने स्टैण्ड किया साफ, 2020 में 200 प्लस सीट जीतने का दावा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :हाल के दिनों में जेडीयू और लोजपा के बीच रिश्ते काफी तल्ख हो गए है. दोनों दलों के बीच जारी गतिरोध को लेकर सियासी पंडित कई तरह के कयास लगाने लगे थे. चिराग पासवान द्वारा लगातार नीतीश सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाया जाना और जवाब में जेडीयू का तीखा पलटवार से यह आशंका जतायी जाने लगी थी कि इसबार बिहार में एनडीए का स्वरूप निश्चित ही बदला बदला होगा.

लेकिन जेडीयू नेता व मंत्री अशोक चौधरी के बयानों से यह साफ हो गया कि दोनों दलों के रिश्तों में कड़वाहट जरूर आ गयी हैं लेकिन बंधन अब टूटा नहीं है. अशोक चौधरी ने साफ कर दिया कि हर पार्टी का अपना-अपना स्टैण्ड होता है. दल कई होते हैं लेकिन चेहरा एक होता है. लोजपा से किसी प्रकार की नाराजगी नहीं है. हमसभी एक हैं और एक रहेंगे.



उधर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने भी साफ कर दिया है कि बिहार में एनडीए पूरी तरह से एकजुट है. 2020 के चुनाव में 200 प्लस सीट पर जीतने का दावा करते हुए संजय जायसवाल ने कहा कि बीजेपी, जेडीयू और लोजपा में किसी प्रकार का कोई मतभेद नहीं है. लोजपा बिहार एनडीए के साथ हैं.

जेडीयू नेता व मंत्री अशोक चौधरी का चिराग को लेकर दिए गए शॉफ्ट बयान और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल के दावों से यह तो साफ हो गया कि लोजपा एनडीए से अलग नहीं है.

बता दें कि लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने हाल के दिनों में नीतीश सरकार पर हमला तेज कर दिया था. यहां तक पार्टी नेताओं को भी निर्देश जारी कर सरकार की खामियों को उजागर करने की पूरी छूट दे रखी थी. इसको लेकर जेडीयू की ओर से सांसद ललन सिंह और मंत्री विजेन्द्र यादव ने उनपर निशाना भी साधने का काम किया था. जिससे यह कयास लगाया जाने लगा था बिहार एनडीए मे टूट सुनिश्चित हैं.

अब देखना दिलचस्प होगा कि जेडीयू नेता अशोक चौधरी का बयान और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल के दावों के बाद लोजपा की क्या प्रतिक्रिया होती है. क्योंकि अब चिराग की बारी है कि दोनों नेताओं के बायन पर उनकी ओर से किस प्रकार की प्रतिक्रिया आती है.