जदयू ने बुलाई प्रवक्ताओं की आपात बैठक, तेजस्वी मुद्दे पर होगा बड़ा फैसला !

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को लेकर सत्ताधारी दल आरजेडी और जदयू के बीच तलवार खिंच गई है. महागठबंधन में घमासान लगातार बढ़ता जा रहा है. इसी क्रम में जेडीयू ने अपने प्रवक्ताओं की आपात बैठक बुलाई है. आरजेडी और जदयू का रिश्ता अब पूरी तरह से नाजुक मोड़ पर आ चुकी है. 

आरजेडी द्वारा यह साफ़ कर देने के बाद कि तेजस्वी यादव किसी भी कीमत पर इस्तीफा नहीं देंगे, इससे जदयू के भी तेवर अब बहुत सख्त हो गए हैं.  तेजस्वी यादव के मुद्दे पर जदयू कोई बड़ा फैसला करने जा रहा है.  पार्टी ने अपने प्रवक्ताओं से जदयू का स्टैंड साफ़ करने को कहा है. साथ ही अपने प्रवक्ताओं को आरजेडी पर हमला करने की पूरी छूट भी दे दी है. इस आपात बैठक में संजय सिंह, नीरज कुमार, अजय आलोक, निखिल मंडल, राजीव रंजन शामिल हुए हैं.

दोनों दलों के बीच बढ़ रही खटास से यह अनुमान लगाया जाने लगा है कि अगले 48 घंटे में कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है. इधर, जदयू प्रवक्ता भी लगातार आरजेडी पर हमलावर हैं. जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने तो राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को ही अपनी संपति सार्वजानिक करने की सलाह दे डाली है.

वहीं जदयू प्रवक्ता संजय सिंह भी खुल कर आरजेडी पर हमलावर हो चुके हैं. आर-पार की लड़ाई के मूड में आई जदयू की ओर संजय सिंह ने कहा कि आरजेडी को अहंकार नहीं करना चाहिए. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे के दम पर ही आरजेडी को इतनी सीटें आ सकी हैं.

वहीं तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर आरजेडी भी अपना रुख साफ़ कर रखा है. आरजेडी ने कहा कि तेजस्वी किसी भी कीमत पर इस्तीफा नहीं देंगे. वहीं आरजेडी के प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि महागठबंधन किसी एक पार्टी का फैसला नहीं था. यह महागठबंधन सांप्रदायिक ताकतों और बीजेपी को रोकने के लिए बना था. इस वक्त भी महागठबंधन को चाहिए की वो एकजुट होकर सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ें.

यह भी पढ़ें-  जदयू का राजद पर हमला, संपत्ति का खुलासा करें लालू प्रसाद