जेडीयू विधायक ने तुड़वाया NIOS D.el.ed अभ्यर्थियों का अनशन, न्याय का दिलाया भरोसा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : NIOS D.el.ed शिक्षक संघ के द्वारा आमरण अनशन किया जा रहा है जो पिछले 26 अक्टूबर से पटना के गर्दनीबाग से धरना स्थल पर चल रहा था. हालांकि आज धरना स्थल पर जेडीयू विधायक पूनम यादव पहुंची और अनशन कर रहे अभ्यर्थियों का अनशन तुड़वाया. बता दें कि NIOS D.el.ed शिक्षक अभ्यर्थी अपनी विभिन्न मांगों को पिछले कई दिनों से आमरण अनशन पर बैठे थे.

धरना स्थल पर जेडीयू विधायक पूनम यादव पहुंची और उन्होंने सभी का अनशन तुड़वाया. साथ ही उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को लेकर शिक्षा मंत्री से बात हुई है और जल्द ही इसकी जांच होगी.

जेडीयू विधायक पूनम यादव ने अभ्यर्थियों को भरोसा दिलाया है कि उनके साथ न्याय होगा. उन्होंने बताया कि शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा से बात हुई है और जल्द ही इस मामले की जांच की जाएगी और स्टूडेंट्स को न्याय मिलेगा.

आमरण अनशन पर बैठे थे अभ्यर्थी

बता दें कि सभी अभ्यर्थी सरकार की नीतियों के खिलाफ विरोध में आमरण अनशन पर बैठे थे. इसको लेकर अनशन पर बैठे अभ्यर्थियों को विपक्षी दलों का साथ भी मिल रहा था. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष इन अभ्यर्थियों के समर्थन में उतर गए थे. उन्होंने ट्वीट कर नीतीश सरकार पर निशाना साधा था और साथ ही सरकार को फैसले पर पुनर्विचार करने को भी कहा था. दीपावली के दिन रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा भी अनशन पर बैठे अभ्यर्थियों के समर्थन में उतर आए थे. उन्होंने धरना स्थल पर पहुंचकर नीतीश सरकार को जमकर कोसा और अभ्यर्थियों का हौसला बढ़ाया था. साथ ही वो खुद भी अभ्यर्थियों के साथ ही धरना पर भी बैठ गए थे.

सरकार ने मान्यता रद्द करने का लिया है फैसला

बता दें कि बिहार के 2.5 लाख NIOS D.El.Ed अभ्यर्थियों की मान्यता को सरकार ने रद्द करने का फैसला लिया है. इसके अंतर्गत अनट्रेंड शिक्षकों को 18 महीने का एक कोर्स कराया गया था. सरकार 18 महीने के डीएलएड की मान्यता को रद्द करने का फैसला ले चुकी है. दरअसल NIOS D.El.Ed अभ्यर्थियों की मांग है कि 18 महीने के D.El.Ed कोर्स को भी मान्यता दिया जाए और उन्हें शिक्षक बहाली में मौका दिया जाए. उपेंद्र कुशवाहा ने भी इस मामले में सरकार से मांग की थी कि 18 महीने के D.El.Ed कोर्स को मान्य करना चाहिए.

राजद सुप्रीमो का बढ़ गया इंतजार, बेल याचिका पर अब 22 नवंबर को होगी सुनवाई

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*