‘दम है तो चिराग विधासनभा चुनाव लड़कर देख लें’ जेडीयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने दी चुनौती

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  जेडीयू-लोजपा के रिश्ते अब काफी बिगड़ चुके हैं. दोनों ओर से तल्खियां इतनी बढ़ गयी है कि एक दूसरे से कोई भी देखना नहीं चाहता है. लोजपा की ओर से लगातार हमले से खफा जेडीयू ने चिराग के लिए अपने दरवाजे बंद कर लिए है.

जेडीयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने लोजपा को चुनौती तक दे डाली. उन्होंने कहा कि वो पहले लोकसभा से इस्तीफा दें, उसके बाद विधानसभा चुनाव लड़कर देख लें. तब उन्हें पता चलेगा कि वे कितने पानी में हैं. चिराग अगर अकेले चुनाव लड़ते हैं तो वे शून्य पर आउट हो जाएंगे.



इसके पहले दिल्ली में बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेन्द्र यादव से जेडीयू सांसद ललन सिंह और आरसीपी सिंह ने मुलाकात की. सीट शेयरिंग को लेकर तीनों नेताओं के बीच लंबी बातचीत हुई. बातचीत के दौरान ही जेडीयू सांसदों ने भूपेन्द्र यादव से साफ-साफ कह दिया कि लोजपा के लिए जेडीयू ने दरवाजे बंद कर दिए हैं. अब लोजपा से सीट शेयरिंग के मुद्दे पर पार्टी बात नहीं करेगी.

बताया जा रहा है कि चिराग पासवान से जेडीयू काफी नाराज है. नीतीश कुमार को चुनौती देने वाले चिराग पासवान के बयान के बाद पार्टी ने लोजपा से रिश्ते तोड़ने का मन बना लिया है.

बता दें कि बिहार दौरे के दौरान बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की थी. दोनों नेताओं की मुलाकात बाद चिराग पासवान के तेवर थोड़े ढ़ीले पड़े थे. मीडिया से बात करते हुए चिराग ने कहा था कि उन्होंने कभी भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को डाइरेक्ट हीट नहीं किया, बल्कि बिहार की समस्या को उनसे साझा करने का काम किया.

चिराग ने यह भी कहा था बीजेपी को अगर नीतीश कुमार का नेतृत्व पसंद है तो लोजपा को कोई एतराज नहीं है. बीजेपी के हर फैसले के साथ लोजपा खड़ी है.