JDU कार्यकारिणी : BJP से सीट शेयरिंग पर नो टेंशन, मिल कर लड़ेंगे बिहार में लोकसभा चुनाव

kc-tyagi
केसी त्यागी, राष्ट्रीय महासचिव, जदयू (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज रविवार को दिल्ली में की गई. जहां कई अहम फैसले लिए गए. जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने प्रेस कांफ्रेंस कर बैठक में लिए गए अहम निर्णय की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जदयू वन नेशन वन इलेक्शन के पक्ष में है. वहीं इस बैठक में यह तय किया गया कि पार्टी अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आगामी लोकसभा और राज्यों के चुनाव में पार्टी के स्टैंड को लेकर आखिरी फैसला करेंगे. वहीं, लोकसभा चुनाव में जेडीयू का बीजेपी के साथ गठबंधन जारी रहेगा.

बिहार में सीटों को लेकर चल रही खींचतान की बातों को खारिज करते हुए पार्टी लोकसभा में एनडीए में रहते हुए चुनाव लड़ेगी. पार्टी के महासचिव संजय कुमार झा ने पत्रकारों को बताया कि कौन सी पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी, इसके बारे में बाद में फैसला लिया जाएगा, लेकिन पार्टी राज्य में एनडीए साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी और जीत हासिल करेगी.

राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ही पार्टी का आखिरी फैसला लेंगे. बीजेपी के साथ सीट शेयरिंग पर कोई टेंशन नहीं है. अभी कोई प्रस्ताव नहीं आया है. लेकिन एडजस्टमेंट को लेकर भी जदयू में कोई समस्या नहीं है.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में दो प्रस्ताव पारित, एक में मोदी सरकार का विरोध करेगा JDU

इस बैठक में जेडीयू ने संसद में नागरिक संशोधन विधेयक पर बीजेपी का विरोध करने का फैसला लिया है. बता दें कि नागरिक संशोधन विधेयक में अफगानिस्तान, बांग्लादेश या पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाइयों को छः वर्षों के प्रवास के बाद भारतीय नागरिकता के योग्य होने की अनुमति मिलती है. पार्टी ने कहा कि धर्म नागरिकता के लिए आधार नहीं हो सकता है.

भाजपा मंत्रियों पर भड़के केसी त्यागी

केसी त्यागी ने कहा कि जिस तरह से कुछ केंद्रीय मंत्री जेल में बंद लोगों से मुलाकात कर रहे हैं. या उनके हक में बात कर रहे हैं. साथ ही प्रशासन के कार्यकलाप पर सवाल उठा रहे हैं. ऐसे मंत्रियों और नेताओं की जदयू कड़ी निंदा करता है. बता दें कि जदयू का यह इशारा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और जयंत सिन्हा को लेकर था.

4 राज्यों में चुनाव लड़ेगा JDU

जिन चार राज्यों में चुनाव होने हैं उनमें राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम शामिल है. पार्टी ने इन चारों राज्यों में हाल के दिनों में अपनी सक्रियता बढ़ाई है और संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए संयोजक नियुक्त करने के साथ-साथ राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारियों को इन राज्यों का प्रभारी बनाया है. इस मामले पर केसी त्यागी ने बताया कि जदयू का बीजेपी से सिर्फ बिहार में गठबंधन है. इसलिए अन्य राज्यों में जदयू अपने कैंडिडेट उतारेगा. यह निर्णय वोट काटने के लिए नहीं बल्कि पार्टी के विस्तार के लिए है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*