लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : मुस्लिम महिलाओं के हितों को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार ने तीन तलाक बिल को संसद में पेश करने की तैयारी कर ली है. इस बात की जानकारी बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी. वहीं तीन तलाक बिल को लेकर बीजेपी की सहयोगी पार्टी जदयू ने एक बार फिर अपना स्टैंड स्पष्ट कर दिया है.

जदयू ने तीन तलाक बिल को लेकर अपना स्टैंड एक बार फिर से क्लियर करते हुए कहा है कि हम इस बिल का समर्थन नहीं करेंगे. बिहार सरकार के मंत्री श्याम रजक ने कहा कि हमने पहले भी इस बिल का विरोध किया था और आगे भी इसका विरोध करते रहेंगे. उन्होंने आगे कहा कि पिछली बार भी हमारे विरोध के कारण ही राज्यसभा में यह बिल नहीं आ पाया था.

वहीं कला संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार ने भी जदयू के द्वारा इस मामले में समर्थन न करने पर कहा कि हर पार्टी का अपना स्टैंड होता है. बीजेपी का स्टैंड अलग है और जदयू का स्टैंड अलग. उन्होंने कहा कि बीजेपी को जो बहुमत चाहिए वो उनके पास है.

वहीं जदयू के तीन तलाक पर विरोध को लेकर सहकारिता मंत्री राणा रंधीर सिंह ने कहा कि जदयू हमेशा से ही महिलाओं के हितों को लेकर सजग रही है और उनके लिए कार्यरत रही है. ऐसे में हम जदयू से तीन तलाक बिल पर समर्थन की मांग करते हैं. राणा रंधीर सिंह ने कहा कि मोदी सरकार के इस फैसले से मुस्लिम महिलाएं काफी खुश हैं और उन्होंने इस फैसले की सराहना भी की है.