रामनाथ कोविंद को मिला नीतीश का साथ, विपक्षी दलों की बैठक से जदयू का किनारा

लाइव सिटीज डेस्क : एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को जेडीयू का साथ मिल गया है.  कई घंटे तक चली कोर कमिटी की बैठक में यह निर्णय लिया गया है. जदयू के महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि चूँकि रामनाथ कोविंद बिहार के राज्यपाल रहे हैं. और निर्विवाद छवि के हैं. इसलिए जदयू ने कोविंद को समर्थन देने का एलान किया है.  केसी त्यागी ने यह साफ़ कर दिया कि 22 जून को होने वाली विपक्षी दलों की बैठक में जदयू  शामिल नहीं होगा. 

केसी त्यागी ने कहा कि जदयू के फैसले से महागठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. वहीं आरजेडी ने यह साफ़ किया है कि सीएम नीतीश कुमार का फैसला जो भी हो आरजेडी विपक्ष द्वारा लिए गए फैसले का समर्थन करेगी

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी रामनाथ कोविंद को सहमति देकर  यह साफ़ कर दिया था कि जदयू एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार को समर्थन दे सकती है. बता दें कि आज बुधवार को एक अणे मार्ग पर चर्चा का बाजार गरम रहा. सीएम आवास पर जेडीयू विधायकों के साथ चीफ मिनिस्टर नीतीश कुमार ने वन-टू-वन किया. खबरें निकल कर सामने आईं कि विधायकों ने अपना फैसला नीतीश कुमार पर छोड़ा है. विधायकों की मानें तो जैसा आलाकमान का फैसला होगा. वैसा ही होगा. और आज शाम बैठक के बाद यह घोषणा कर दी गई है कि जदयू  रामनाथ कोविंद को समर्थन करेगा. 

मालूम हो कि आज दिन में जदयू विधायक रत्नेश सदा ने मीडिया से बाचचीत में कहा कि वो रामनाथ कोविंद के साथ हैं. उन्होंने कहा कि हमारे नेता नीतीश कुमार अच्छे लोगों का साथ देते हैं. रामनाथ कोविंद एक अच्छे आदमी हैं. उनकी छवि अच्छी रही है. इसलिए जदयू का पूरा समर्थन उनके साथ है. पार्टी के विधायक के इस बयान से महागठबंन की एकता पर फिर से सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं.

यह भी पढ़ें-  जदयू विधायकों ने कहा- हमलोग रामनाथ कोविंद के साथ, अब कोर कमिटी के हाथों में फैसला