जेडीयू के दलित मंत्री, विधायक और नेताओं ने की बैठक, जनता के सामने विपक्ष के दलित प्रेम की खोलेंगे पोल

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : सीएम नीतीश कुमार की 6 सितंबर को होने वाली वर्चुअल रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी के दलित विधायकों की बैठक हुई. मंत्री अशोक चौधरी के आवास पर हुई बैठक में , महेश्वर हजारी,संतोष निराला,मंत्री रमेश ऋषि देव के साथ सांसद डॉ आलोक सुमन समेत कई विधायक और जदयू के नेता मौजूद रहे.

बैठक में शामिल हुई विधायक प्रेमा चौधरी ने कहा कि मैं 20 साल से आरजेडी में थी लेकिन कभी ये नहीं लगा कि वो दलितों के हितैसी है. सीएम के रूप में पिछले 15 साल के कार्य से प्रभावित होकर ही मै जेडीयू के साथ हूं.



वहीं इस मौके पर मौजूद मंत्री एसके निराला ने कहा कि दलित नीतीश कुमार के साथ है, बिहार में एकमात्र नेता है जिन्होने दलितों का उत्थान किया है. बैठक में शामिल विधायक ललन पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार ने दलितों के अधिकारों की रक्षा की है उन्हें अधिकार दिया है.

मंत्री महेश्वर हजारी ने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर के सपने को सच कर रहे हैं नीतीश कुमार, दलितों के लिए जो नीतीश कुमार ने किया है वो भारतीय इतिहास में किसी ने नेता ने नहीं किया.

इधर मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार ने दलित समाज के लिए जो काम किया है उसको जनता तक आक्रामक रूप से चुनाव में पहुंचाने का काम करेंगे.

बता दें कि कोरोना काल में वर्चुअल मीटिंग ही संवाद का मुख्य जरिया बना है.सभी राजनीतिक दल वर्चुअल माध्यम से ही रैली या मीटिंग कर रहे हैं. भाजपा के बाद जदयू की ओर से भी वर्चुअल रैली की जा रही है. इसके पहले अमित शाह की बिहार में बड़ी वर्चुअल रैली हुई थी. कांग्रेस और राजद भी वर्चुअल मीटिंग कर रही है. कांग्रेस की तरफ से 1-21 सितबंर तक बिहार में करीब 100 वर्चुअल मीटिंग करने वाली है.