नीतीश कुमार को ऊर्जाविहीन कहने पर जेडीयू का तेजस्वी पर पलटवार, कहा- उनके रायता को साफ करने में सीएम ने लगायी अपनी सारी इनर्जी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : तेजस्वी ने जब सीएम नीतीश को ऊर्जाविहीन, उबाऊ, पकाऊ और घिसी-पिटी बातों को दुहराने वाला कहा तो जेडीयू ने कड़ा एतराज जताया. जेडीयू नेता व मंत्री संजय झा और प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने आरजेडी को उसी की भाषा में जवाब दिया. जेडीयू के दोनों नेताओं ने तेजस्वी पर भाषायी मर्यादा को तार-तार करने का आरोप लगाया.  

जेडीयू नेता व मंत्री संजय झा ने कहा कि नीतीश कुमार को लेकर इस प्रकार बयान देना कहीं से भी सहीं नहीं है. देश के प्रतिष्ठित नेता और बिहार के मुख्यमंत्री को लेकर इस प्रकार के अमर्यादित बयान की जितनी निंदा की जाए उतना कम होगा.



संजय झा ने कहा कि नीतीश कुमार थके और पके हुए है लेकिन नौवा फेल नहीं है. 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे है उनके बारे में इस प्रकार की टिप्पणी ठीक नहीं है. 15 साल में उनलोगों ने जितनी गंदगी फैलाई थी, उसको साफ करने में नीतीश कुमार ने अपनी ऊर्जा खपाने का काम किया. 17-18 घंटा काम कर उनकी गंदगी को बिहार से साफ किया गया.

पहले के लोगों के काम से बिहार को शर्मसार होना पड़ता था. वैसे बिहार को विकास की पटरी पर लाने में नीतीश कुमार ने अपनी ऊर्जा लगाने का काम किया. आज सवाल करने वाले कोरोना काल के समय भागे हुए थे. 10 तारीख को उनलोगों का सारा भ्रम दूर हो जाएगा. बिहार की जनता ने तय कर लिया है फिर से नीतीश कुमार की सरकार बनाना है.

वहीं जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने तेजस्वी पर पलटवार करते हुए कहा कि नीतीश कुमार थके नहीं है. वो आज भी 17-18 घंटा काम करते हैं. तेजस्वी और चिराग में अंदरखाने खिचड़ी पक रही है. दोनों के सुर मिले हुए हैं. लेकिन बिहार की जनता दोनों को ही पहचना चुकी है. ऐसे लोगों की दाल गलने वाली नहीं है.