झारखंड में तबरेज की मौत पर सियासत शुरू, पुलिस भी मामले की जांच में मुस्तैदी से जुटी

लाइव सिटीज, रांची : सरायकेला में मारे गए युवक तबरेज की मौत को पुलिस चोरी के आरोप में मारपीट में मौत बता रही है. पुलिस का कहना है सरायकेला के मुर्मू गांव में तीन अपराधकर्मी के द्वारा मोटरसाइकिल मोबाइल और पर्स चोरी की गई थी. उसके बाद यह तीनों अपराध कर्मी सीमावर्ती गांव जहां घटना घटी थी. वहां गए लेकिन 2:00 बजे रात्रि को चोरी करने के दौरान गांव वाले जाग गए, जहां दो अपराध कर्मी भागने में सफल रहे.

वहीं तीसरा अपराधी जिसका नाम तबरेज था. ग्रामीणों के हाथों चढ़वाया गया. तब ग्रामीणों ने उसके साथ मारपीट की और ग्रामीणों ने चोरी की गई. मोबाइल भी उसके पास से बरामद की पुलिस को सुबह खबर हुई. पुलिस ने 18 तारीख को स्थानीय जेल भेज दिया, लेकिन 22 तारीख को दर्द की शिकायत पर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. उसके बाद सोशल मीडिया में उसका वीडियो वायरल हो चुका था. जिसमें जय श्री राम के नारे लगाते हुए उस वीडियो में दिख रहा है. लेकिन पुलिस इस वीडियो को सही नहीं मान रही है जब तक उसकी फॉरेंसिक रिपोर्ट पुलिस के पास नहीं आ जाती.

लेकिन पुलिस मान रही है कि ग्रामीणों के द्वारा तबरेज की मौत हुई है जो कानून अपने हाथ में ले लिया गया था. तब पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गांव से 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. जिसमें मेन अभियुक्त मंडल भी शामिल है. और बाकी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उस गांव में छापेमारी कर रही है. वही इस मामले को गंभीरता से ना लेने पर झारखंड पुलिस ने दो पदाधिकारियों को सस्पेंड भी कर दिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*