जिद पर अड़े जूनियर डॉक्टर, सरकार की चेतावनी का असर नहीं, चौथे दिन भी हड़ताल जारी

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : बिहार सरकार की सख्ती के बाद भी जूनियर डॉक्टर नहीं झुके हैं. उनका कार्य बहिष्कार आज शनिवार को भी जारी है. आज हड़ताल का चौथा दिन है. हालांकि कानूनी कार्रवाई के भय से आज जूनियर डॉक्टरों ने ओपीडी को डिस्टर्ब नहीं किया है. इसके कारण आज ओपीडी में मरीजों की भीड़ ठीक-ठाक रही.

बताया जाता है कि दोपहर 12 बजे तक महज 4 घंटे में ही 700 से अधिक मरीजों ने रजिस्ट्रेशन करा लिया था. जूनियर डॉक्टरों ने भी जानकारी दी कि वे लोग ओपीडी को कोई बाधा नहीं पहुंचा रहे हैं. बता दें कि कल क्रिसमस के कारण ओपीडी बंद था. जबकि कल रविवार को भी ओपीडी बंद रहेगा. ऐसे में सोमवार को पता चलेगा कि डॉक्टरों का क्या रूख रहेगा.



बताया जाता है कि जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल से इमरजेंसी की हालत जस की तस बनी हुई है. बड़ा असर इमरजेंसी में ही देखने को मिल रहा है. सर्जिकल इमरजेंसी में भी कम संख्या में मरीज पहुंच रहे हैं. हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि ठंड के कारण मरीज घटे हैं, जबकि जूनियर डॉक्टर इसे हड़ताल का असर बता रहे हैं.

सिविल सर्जन ने दिये 10 डॉक्टर

जानकारी के अनुसार पीएमसीएच ने 50 डॉक्टरों की डिमांड के लिए सिविल सर्जन को पत्र लिखा था. इस बावत शनिवार की सुबह 10 डॉक्टरों ने वहां रिपोर्ट कर अपना योगदान दिया है. बताया जाता है कि जल्द ही 40 और डॉक्टर आएंगे.  पीएमसीएच अधीक्षक डॉ बिमल कारक के अनुसार, 50 में से अब तक 10 की रिपोर्ट मिली है. बाकी डॉक्टर मिल जाएंगे तो व्यवस्था कुछ हद तक सही हो जाएगी.