KIIT : सिर्फ भेड़ियाधसान एडमिशन बचा है यहां, प्‍लेसमेंट के नाम पर वेटिंग फार लेमनचूस ही है

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्‍क : KIIT मतलब कलिंगा इंस्‍टीच्‍यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी . भुवनेशवर में है . बड़ा शैक्षणिक संस्‍थान है . बिहार – झारखंड से सबसे अधिक बच्‍चे हैं यहां . सर्वाधिक इंजीनियरिंग पैदा करते हैं . कुछ साल पहले तक बड़ा भाव था किट का . लेकिन, अब यह बहुत महंगी दुकान, पर फीका पकवान से अधिक कुछ भी नहीं बचा है . कहने को हंड्रेड परसेंट प्‍लेसमेंट है बच्‍चों का, लेकिन अब इन दावों में बड़ा झोल दिखने लगा है .

किट के संस्‍थापक राज्‍य सभा में जा चुके हैं . निश्चित तौर पर उनकी प्रायोरिटी बदली है . लाइफ में पोलिटिकल कमिटमेंट भी आ गया है . ऐसे में, किट का स्‍टैंडर्ड गिरा है . वर्तमान और पूवर्वर्ती कई छात्र ऐसी शिकायतें लेकर मिलते रहते हैं . किट कैंपस में पहले बहुत डिसिपलिन था . पर अब बदमाशी की इंतहां हो जाती हैं . पिछले महीनों में किट कैंपस के भीतर का उत्‍पात दुनिया भर की सुर्खियों में आ गया .

किट के बारे में एक बात दुनिया भर में फेमस हो चली है और वह यह कि पढ़ाई – लिखाई तो साढ़े बाईस कोस से भी दूर जाती दिख रही है, किंतु दिखावे की शोशाबाजी में यह संस्‍थान रिकार्ड बना रहा है . किट अपनी कमजोरियों को छुपाने को बॉलीवुड के महंगे एक्‍टर – एक्‍ट्रेस को बुलाता है और सुर्खियों में बना रहता है . निश्चित तौर पर ये एक्‍टर – एक्‍ट्रेस फ्री में नहीं आते हैं . बहुत रुपये लेते हैं और ये रुपये छात्रों से वसूली गई महंगी फीस से ही अदा की जाती है .

किट के कई छात्रों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अब सब कुछ खत्‍म होता जा रहा है यहां . एडमिशन भेडि़याधसान की तरह फंड मैनेजमेंट के वास्‍ते लिया जा रहा है . सीटों की संख्‍या बढ़ती है, पर फैकल्‍टी का स्‍टैंडर्ड नहीं सुधरता है . कहने भर को है कि किट में एडमिशन कोई टास्‍क है . अब तो बस ऐसा है कि आपके मां – बाप के पास रुपये हों, किट एडमिशन तो ले ही लेगा .

प्‍लेसमेंट को लेकर भी छात्रों की शिकायतें बढ़ चलीं हैं . बताया जा रहा है कि जब आप फाइनल ईयर में होते हैं, तो कहने को प्‍लेसमेंट हो जाता है . लेकिन बाद में कंपनियां जॉइनिंग कॉल सालों – साल नहीं करती है . ऐसा लगता है, किट से फाइनल ईयर के बच्‍चों को शांतिपूर्वक बाहर किए जाने को कोई ड्रामा गढ़ा जाता है . कुछ पूर्ववर्ती छात्र – छात्राएं ऐसे मिले, जो यह सलाह देते हैं कि आप 2019 में दाखिला लेने के लिए किट मतलब कलिंगा में सोच रहे हैं, तो पहले मौजूदा सच को जान लें .

About Md. Saheb Ali 4460 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*