Historical Achievements : कल्पित ने कहा- आप भी बन सकते हैं टॉपर, बस ये करें…

kalpit

लाइव सिटीज डेस्क : कल्पना से परे. रिजल्ट सुन हर कोई स्तब्ध. पहली बार ऐतिहासिक रिजल्ट. महज 17 साल में यह बिग एचीवमेंट. जी हां, कुछ ऐसा ही किया है कल्पित ने. JEE Mains 2017 की परीक्षा में कल्पित का अकल्पित रिजल्ट रहा. फुल मार्क्स. 360 में 360 अंक मिले. यही कारण है कि एक ही दिन में कल्पित पूरे देश में हीरो बन गया. रीयल हीरो. तभी तो जो सुन रहा है, वही कह रहा है – शाबास कल्पित. और आप पढ़ें कि कल्पित क्या कह रहा है…

जी हां, देश भर में प्रतिष्ठत JEE Mains 2017 की परीक्षा में राजस्थान स्थित उदयपुर के रहनेवाले कल्पित वीरवल ने बाजी मारी है. कल्पित पहला ऐसा छात्र है, जिसने 100 परसेंट मार्क्स प्राप्त किये हैं. मतलब कल्पित को 360 में से 360 अंक मिले हैं. बेशक कल्पित इस सफलता से काफी खुश है, लेकिन उसका साफ कहना है कि इसके लिए आप बड़े कोचिंग की चकाचौंध में नहीं फंसें. पढ़ाई को एंज्वॉय के ​रूप लें. उसे बोझ नहीं समझें.

 

कल्पित का साफ कहना है कि सभी लोगों ने मुझसे यह कहा कि उसे कोचिंग की पढ़ाई के लिए कोटा या फिर हैदराबाद जाना चाहिए. लेकिन, इसे इग्नोर करते हुए मैंने खुद को सिर्फ पढ़ाई पर फोकस किया. स्टडी को कभी बोझ नहीं समझा और उसे एंज्वॉय के रूप में लिया. कल्पित के अनुसार ‘मैं चाहता था कि जो भी सीखूं उसे एंज्वाय करूं, इसीलिए मैंने यह फैसला किया कि उदयपुर में ही रहूं. इसके बाद उदयपुर में ही मैंने कोचिंग ज्वाइन किया.’

kalpit

हालांकि इतनी बड़ी सफलता पर कल्पित ने कहा, हालांकि मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि मुझे 100 परसेंट मार्क्स मिलेंगे. 360 में से 360 अंक मिलने पर पहले तो मुझे भरोसा ही नहीं हो रहा था. हां, मुझे लग रहा था कि मैं टॉप करूंगा, लेकिन ऐतिहासिक रिजल्ट रहेगा, इसकी मैंने कल्पना तक नहीं की थी. गौरतलब है कि कल्पित के पिता पुष्पेंद्र वीरवल सरकारी एमबी अस्पताल में मेल नर्स हैं, जबकि मां पुष्पा सरकारी स्कूल में टीचर हैं. कल्पित कहते हैं कि मेरे माता-पिता मेरे स्वास्थ्य को लेकर काफी सजग रहते थे और वे चाहते थे कि मुझे कभी भी खांसी या कफ तक न हो. पिता के हेल्थ डिपार्टमेंट से जुड़े रहने के कारण इसका हमें फायदा मिला.

इसे भी पढ़ें : अरे वाह ! अब बिहार नहीं है देश का सबसे करप्‍ट प्रदेश, अधिक करप्‍ट है गुजरात   

सुपर-30 के बच्चों ने फिर गाड़े झंडे, JEE-Mains में 20 छात्र सफल

कल्पित अपनी सफलता के राज के बारे में कहते हैं कि मैं रोजाना घर में छह से सात घंटे की पढ़ाई करता था. फिर इसमें एक्यूरेसी और टाइमिंग सबसे इंपॉर्टेंट पार्ट है. इसलिए आप कभी भी घड़ी देख कर पढ़ाई नहीं करें. मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं कि मैंने भी ऐसा ही किया है. मैंने पढ़ाई के वक्त कभी समय नहीं देखा. टॉपिक वार नियमित रूप से छह से सात घंटे पढ़ने का रूटीन बनाया. मॉक टेस्ट पेपर्स से टाइमिंग पर पकड़ बनायी और तीन घंटे से कुछ मिनट पहले ही पेपर खत्म किया. इसके साथ ही आसान सवालों का मैंने पहले जवाब दिया. इसके बाद थोड़े कठिन और फिर मुश्किल सवाल हल किये. 75 प्रतिशत आश्वस्त होने पर भी मैंने सवाल कर डाले.

गौरतलब है कि JEE Mains 2017 की परीक्षा में 360 में से 360 अंक हासिल करनेवाले कल्पित को फिजिक्स, कैमेस्ट्री और मैथ्स, सभी में 120 में से 120 मार्क्स मिले. यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है. IIT सहित देशभर के प्रमुख इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले की इस परीक्षा में अब तक कोई भी स्टूडेंट परफेक्ट 100% स्कोर नहीं कर पाया था. मालूम हो कि कल्पित ने NTSE एनटीएसई के प्रथम चरण में भी राज्य में पहला स्थान प्राप्त किया था.