गया में रालोसपा के केस दर्ज के बाद कंगना ने किया ट्वीट, लिखा- आखिर क्यों लोग उनसे नफरत करते हैं

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : अपने बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वालीं एक्ट्रेस कंगना रनौत के खिलाफ बिहार के गया में रालोसपा द्वारा कोर्ट में एक शिकायत दर्ज कराए जाने की जानकारी मिलने के बाद कंगना ने दो ट्वीट किए और बताया कि आखिर क्यों लोग उनसे नफरत करते हैं. पंगा क्वीन ने कहा कि मैं फिल्म इंडस्ट्री को लेकर हमेशा ईमानदार रही हूं इसलिए उनमें से ज्यादातर लोग मेरे खिलाफ हैं.

कंगना रनौत ने ट्वीट में लिखा, मैंने आरक्षण का विरोध किया तो ज्यादातर हिंदू मुझसे नफरत करने लगे. मणिकर्णिका की रिलीज के दौरान मैंने करणी सेना के साथ लड़ाई की तो राजपूतों ने भी मुझे धमकी दी. मैं इस्लामिक कट्टरपंथियों के खिलाफ खड़ी हुई तो मुस्लिम नफरत करने लगे. मैं खालिस्तानियों से लड़ी तो अब ज्यादातर सिख मेरे खिलाफ हो गए हैं.



उन्होंने एक और ट्वीट किया और लिखा- मेरे शुभचिंतक मुझे बताते हैं कि मेरे जैसे वोट भगाने वाली शख्सियत को कोई भी पार्टी पसंद नहीं करती. इसलिए ये जाहिर है कि मेरी कोई भी राजनीतिक दल मेरी सराहना नहीं करता है.

दरअसल, गया सिविल कोर्ट में दाखिल परिवाद में रालोसपा के प्रदेश महासचिव विनय कुशवाहा ने आरोप लगाया है कि एक्ट्रेस कंगना रनौत ने अपने ट्विटर अकाउंट से पार्टी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इस मामले को लेकर बीते दिनों रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने भी ट्वीट कर अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ निशाना साधा था.

उपेंद्र कुशवाहा द्वारा कंगना रनौत के खिलाफ रालोसपा की पुरानी एक चुनावी सभा की तस्वीर के दुरुपयोग किये जाने का आरोप लगाया था. इस मामले पर उपेंद्र कुशवाहा ने पूछा था कि क्या रालोसपा द्वारा आयोजित चुनावी सभा की तस्वीर का दुरुपयोग करने से कंगना रनौत को राजनीति की पाठशाला में प्रवेश मिल जाएगा?

आपको बता दें कि यो यो फन्नी सिंह नाम के ट्विटर अकांउट से रालोसपा की चुनावी सभा की एक तस्वीर को शेयर किया गया. इस ट्विटर अकांउट की ओर से इस तस्वीर में दिखाई दे रहे नेताओं को अलग-अलग उपनामों से संबोधित किया गया था. इन नेताओं को लुटियंस लिबरल, जिहाद, आजाद कश्मीर, अर्बन नक्सल, कम्युनिस्ट व खालिस्तान उपनामों से संबोधित किया गया.