पटना एयरपोर्ट पर उतरते ही गिरफ्तार हुआ कुश, कन्हैया कौशिक की हत्या कर हो गया था फरार

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : छात्र जदयू के नेता कन्हैया कौशिक की हत्या करने वाला कुश अब गिरफ्तार हो गया है. सोमवार की शाम जैसे ही वो पटना एयरपोर्ट पर उतरा और वहां से बाहर निकला, वैसे ही पटना पुलिस की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया. एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने इसकी पुष्टि की है. कुश पिछले 5 महीने से फरार चल रहा था. पटना पुलिस की टीम वारदात के बाद से ही लगातार उसकी तलाश में जुटी हुई थी. अब तक कई जगहों पर उसे खोज चुकी थी. उसके हर कनेक्शन को खंगाल चुकी थी. लेकिन उसका कुछ भी पता नहीं चल रहा था. लेकिन इसके बाद पटना पुलिस ने जो कदम उठाया, वो कारगर साबित हुआ.

– कॉन्टैक्ट में आए परिवार पर थी नजर



दरअसल, कुश के फरार रहने के  दौरान 10 अगस्त को पटना पुलिस ने उस पर 50 हजार रुपए के इनाम रखने का प्रस्ताव पुलिस मुख्यालय को भेजा था. पुलिस सोर्स की मानें तो यह बात कुश तक पहुंची. इसके बाद ही अचानक से वो अपने परिवार के कॉन्टैक्ट में आ गया. पुलिस सोर्स के अनुसार बोकारो में रह रहे कुश के भाई की कॉल डिटेल्स को सबसे पहले खंगाला गया. फिर पिता और मां के नम्बर को. मोबाइल नम्बर बदल-बदल कर कुश इन सब से बात कर रहा था.

– इस तरह ट्रेस हुआ लोकेशन

11 अगस्त के बाद ही कुश अपने परिवार के टच में आया था. इसके बाद ही पुलिस टीम ने सबसे पहले उसके भाई, फिर पिता और उसकी मां को अपने कब्जे में लिया. इस क्रम में भी उसका अपने परिवार से बातचीत लगातार जारी था. तभी पटना पुलिस को कुश का लोकेशन दिल्ली मिला. वो लगातार अपनी पहचान बदलकर वहां रह रहा था. कुश को ऐसा लगा कि पुलिस टीम उसके परिवार को जेल भेजने वाली है, जिस कारण वो सोमवार की शाम स्पाइस जेट की फ्लाइट से पटना आ रहा था. उसके मूवमेंट की खबर पटना पुलिस को थी. यही कारण है कि एयरपोर्ट से उसे दूसरे जगह भागने का मौका नहीं मिला. पहले से मौजूद पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया. अब उससे पूछताछ चल रही है.

– होली के दिन हुई थी वारदात

   गौरतलब है कि इसी साल ठीक होली के दिन देर शाम को छात्र जदूय के नेता कन्हैया कौशिक की पटेल नगर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. कुश और उसके साथियों ने कॉल कर कन्हैया कौशिक को घर से बुलाया था. पोस्टर को लेकर हुए विवाद की वजह से उसे गोली मार दी थी. वारदात के बाद से ही आरोपी कुश फरार चल रहा है. वारदात को पटना के शास्त्रीनगर थाना के तहत अंजाम दिया गया था. शुरुआती जांच करते हुए पटना पुलिस ने उस दौरान कुश के दो साथियों को गिरफ्तार किया था. जबकि कुश के पटना और बिहटा स्थित घर की कुर्की जब्ती की थी.