लखीसराय गैंगरेप : सीएम नीतीश ने लिया संज्ञान, PMCH हुआ एक्टिव

पटना : लखीसराय में निर्भया कांड जैसा ही गैंगरेप का मामला सामने के बाद राज्य सरकार भी हरकत में आ गई है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीड़िता के मामले में खुद संज्ञान लिया है. उन्होंने इसके लिए अधिकारियों को उचित निर्देश दिया है. उन्होंने कहा है कि पीड़िता के देखभाल व इलाज में कोई कमी नहीं होनी चाहिए. साथ ही रेपिस्ट को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने को कहा है. 

इधर पटना पीएमसीएच आने के बाद पीड़िता को ले परिजन इलाज के लिए दर-दर भटक रहे थे. लेकिन मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अस्पताल प्रबंधन भी हरकत में आई और अब पीड़िता का इलाज किया जा रहा है/

क्या है मामला

लखीसराय में दरिंदो ने हैवानियत की सीमा लांघ दी. नाबालिग से न केवल मनचलों ने गैंगरेप किया और फिर साक्ष्य मिटाने के लिए छात्रा को किउल स्टेशन पर ट्रेन से नीचे फेंक दिया गया. मामला चानन थाना क्षेत्र के लाखोचक गांव का है.

छात्रा के शरीर पर जख्मों के निशान देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि आरोपियों ने किस कदर इस दिल-दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया होगा. पीड़िता फिलहाल पटना के एक अस्पलात में मौत से जंग लड़ रही है. 

बताया जा रहा है कि गुरुवार की देर रात ही मैट्रिक की एक छात्रा के साथ गांव के एक युवक द्वारा दुष्कर्म किया गया. दुष्कर्म के बाद युवक द्वारा अपने आधा दर्जन साथियों के साथ पीड़िता को वंशीपुर स्टेशन पर पहले तो एक ट्रेन में चढ़ाया गया फिर मौका पा कर उसे किऊल स्टेशन के पास चलती ट्रेन से फेंक दिया गया.

पीड़िता ने बताया कि छह की संख्या में आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया है. जिसमें छह में एक संतोष कुमार था जिसे वह पहचानती है. दुष्कर्म के बाद सभी ने किऊल स्टेशन के चलती ट्रेन से उसे फेंक दिया़. घटना की सूचना पर अस्पताल पहुंचे डीएसपी पंकज कुमार एवं चानन थाने की पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है.

यह भी पढ़ें-  मैट्रिक की छात्रा को गैंगरेप के बाद चलती ट्रेन से फेंका, पटना में मौत से लड़ रही है पीड़िता
इश्क के झांसे में पहले रेप किया फिर तेल छिड़क लगा दी आग