लालू-राबड़ी ने बिहार को किया बर्बाद, प्रदेश के विकास की जगह सिर्फ अपना किया विकास

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने लालू राबड़ी शासनकाल पर निशाना साधते हुए कहा कि तेज विकास के लिए अच्छी सड़क और प्रचुर बिजली की जरूरत होती है, लेकिन लालू-राबड़ी राज में ये दोनों नदारद थे. बिहार अंधेरे में था और सड़कें जर्जर थीं. कोई यहां आना नहीं चाहता था, इसलिए पर्यटन सहित सारे उद्योग-धंधे चौपट थे. लाखों लोगों को बेरोजगारी के चलते पलायन करना पड़ा.

मोदी ने आगे लिखा कि जो महापलायन के सियासी गुनहगार थे, वे ही लॉकडाउन के समय दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की वापसी के लिए 1000 बस भेजने के बड़बोले दावे कर रहे थे. वर्ष 2006 के पहले मात्र 835 किमी ग्रामीण सड़क बनी थी. आज लगभग 1 लाख किमी ग्रामीण सड़कों का निर्माण हो चुका है. केवल पिछले पांच साल में 10,287 किमी स्टेट हाइवे का निर्माण हुआ. सभी गांवों को बिजली मिल रही है. विकास दर लगातार दहाई अंकों में बनी हुई है.



विकास के ये आंकड़े और तेजी से बदलता परिदृश्य लालटेन वालों को दिखाई नहीं पड़ता, लेकिन जनता देख रही है. ऐसे लोग सिर्फ बयान देकर विकास के मुद्दे को भटकाने का काम करते है. लेकिन प्रदेश की जनता ऐसे लोगों का जान चुकी है. लाख ये लोग हाथ पैर मार ले जनता इनके झांस में नहीं आने वाली है.

बता दें कि बुधवार को ही सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि ब.स.पा यानी बिजली, सड़क और पानी को विपक्ष अब मुद्दा बनाकर जनता के बीच जाए तो उन्हें जवाब खुद ब खुद मिल जाएगा. एनडीए की सरकार ने सबसे पहले प्रदेश में बिजली, सड़क और पानी की समस्या को दूर करने का किया. जो विपक्ष इसको अक्सरहा मुद्दा बनाने का काम करता था.