रांची में लालू यादव से मिले तेजस्वी, स्वास्थ्य को लेकर जतायी चिंता, देश के नामी डॉक्टरों से की ये अपील…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : रांची के रिम्स में इलाजरत सजायाफ्ता लालू यादव से आज तेजस्वी ने मुलाकात की. रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती लालू यादव से तेजस्वी के साथ संजय यादव और मदन कुमार ने भी मुलाकात किया. तेजस्वी ने पिता से मिलकर घर परिवार की बातों को शेयर किया. साथ ही उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली.

तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जैसा कि सबको पता हैं लालू यादव की किडनी 25% काम कर रही है, चुनाव के बाद पहली बार मैं मुलाकात किया हूं, करीब 4- 5 महीने हो गए मुलाकात किए हुए, शनिवार को मुलाकातियोँ का दिन होता है, इसलिए हमलोगों ने मुलाकात कर उनका हालचाल जाना.



लालू यादव की किडनी 25 फीसदी काम करने पर चिंता जाहिर करते हुए तेजस्वी ने कहा कि हमलोगों ने देश के नामी डॉक्टरों से इसकी चर्चा की है. उन सभी से आग्रह किया है कि लालू यादव की स्थिति को आकर देखें. ताकि उनकी स्थिति में सुधार हो सके. हमारी चिंता है कि लालू यादव को कहीं डायलिसिस नहीं करना पड़े. एलआईसी, बीएसएनएल समेत कई सरकारी कंपनियों का प्राइवेटाइजेशन कर दिया गया.

वहीं देश के किसानों के आंदोलन को लेकर केन्द्र सरकार से अड़ियल रवैया त्यागने की अपील करते हुए तेजस्वी ने कहा कि अन्नदाता की बातों की अनदेखी की जा रही है. उनके साथ अन्याय किया जा रहा है. बिहार से तो पहले के एपीएमसी खत्म कर किसानों को कमजोर कर दिया गया. बिहार झारखंड के किसानों में इतनी हिम्मत नहीं रह गयी है कि किसान आंदोलन का समर्थन कर सके.

वही बिहार चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि बिहार में चोर दरवाजे से सरकार बनी हैं ,जनता ने जनादेश दिया और चुनाव आयोग ने अपना नतीजा सुनाया. पिछले एक महीने बिहार को देखा जाए तो दिनदहाड़े हत्या हो रही है, रंगदारी मांगी जा रही है. पूरी तरीके से सरकार फेल नजर आ रही है. जो चुनाव के समय हम लोग कहा करते थे की सरकार थक चुकी है वाक़ई में नीतीश सरकार थकी हुई है.

बता दें कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने 21 दिसंबर को आरजेडी की बैठक बुलाई. इसमें विधानसभा चुनाव लडने वाले सभी प्रत्याशी शिरकत करेंगे. जो हार गए हैं अथवा जो जीत कर विधायक बन गए हैं, सभी बैठक में शामिल होंगे. सूत्रों के अनुसार, पार्टी कार्यालय में होने वाली बैठक में प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह भी शामिल होंगे. बताया जाता है कि जिन विधानसभा क्षेत्रों में आरजेडी की हार हुई है, उस पर मंथन किया जाएगा. कारण जानने की कोशिश की जाएगी.