‘मुझे बिहार कांग्रेस प्रभारी से मुक्त किया जाए’ शक्ति सिंह गोहिल ने पार्टी आलाकमान से की अपील

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क :  कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने पार्टी आलाकमान से बिहार कांग्रेस प्रभारी से मुक्त करने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘निजी कारणों से मैंने कांग्रेस आलाकमान से गुजारिश की है की मुझे लाइट जिम्मेवारी दी जाए और बिहार के प्रभार से मुक्त किया जाए’.

साल 2018 में कांग्रेस ने सीपी जोशी को हटाते हुए गोहिल को प्रभारी नियुक्त किया था. जिसकी औपचारिक घोषणा पार्टी के तत्कालीन महासचिव अशोक गहलोद ने की थी. गोहिल गुजरात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं. शक्ति सिंह गोहिल का पूरा नाम शक्ति सिंह हरिश्चंद्र सिंह गोहित है.



शक्ति सिंह गोहिल का जन्म चार अप्रैल, 1960 को मुंबई के भावनगर जिले के लिम्डा में हुआ है. गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के पूर्व लिम्डा शाही परिवार के सदस्य अपने भाइयों में सबसे बड़े बेटे हैं. शक्ति सिंह ने रसायन विज्ञान से स्नातक करने के बाद उन्होंने कानून की पढ़ाई भी पढ़ी है. साथ ही कंप्यूटर और पत्रकारिता भी उन्होंने किया है.

शक्ति सिंह का राजनीति करियर साल 1986 में शुरू हुआ था. उन्होंने भावनगर जिले में युवा कांग्रेस में शामिल होकर पहली बार राजनीति में कदम रखा था. इसके बाद साल 1989 में उन्हें गुजरात युवा कांग्रेस का महासचिव बनाया गया. शक्ति सिंह कांग्रेस के दो बार के कार्यकाल में वित्त, स्वास्थ्य, शिक्षा आदि मंत्री रह चुके हैं.

इसके अलावा वह वर्ष 2007 से 2012 तक गुजरात विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी रह चुके हैं. गुजरात के प्रतिष्ठित भावनगर राजघराने से ताल्लुक रखनेवाले शक्ति सिंह गोहिल को राजनीति विरासत में मिली है. शक्ति सिंह के दादा दरबार साहेब रणजीत सिंह भी कांग्रेस से जुड़े थे. उन्होंने गधदा विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 1967 में विधायक चुने गये थे.