एसपी विनय तिवारी को क्वारंटीन किए जाने के खिलाफ BMC को लिखा गया पत्र, पटना आइजी ने की ये मांग

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के रहने वाले बॉलीवुड के अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या के मामले में बिहार और मुंबई पुलिस अब आमने-सामने दिख रही है. मुंबई जांच के लिए पहुंचे बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई में नियमों के विरुद्ध क्वारंटीन किए जाने के बाद बिहार पुलिस ने अब बृहनमुम्बई म्यूनिसिपल कोरपोरेशन (बीएमसी) को विरोध पत्र लिखा है.

बिहार पुलिस की तरफ से ये पत्र पटना प्रक्षेत्र के आईजी संजय सिंह ने लिखा है जिसमें केस की तफ्तीश के लिए मुंबई गए पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को जबरन क्वांरटीन करने पर आपत्ति जताई गई है. पटना IG संजय सिंह ने अपने पत्र में लिखा है कि विनय तिवारी सुशांत सिंह मामले में जांच करने मुंबई गए थे. इसकी लिखित सूचना मुंबई पुलिस उपायुक्त जोन 9 बांद्रा को दी गई थी, फिर उनको होम आइसोलेशन में क्यों रखा गया. बिहार पुलिस द्वारा जारी इस लेटर के बाद एक बार फिर से राजनीति गरमाने के संकेत मिल रहे हैं.



डीजीपी ने बताया था कि जांच करने के लिए गये पटना सिटी एसपी को मुंबई में जबरन क्वारेंटिन करना पूरी तरह से गलत है. इसकी जरूरत नहीं थी. बीएमसी (बॉम्बे म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन) के नियमों का अध्ययन किया गया है. इसके आधार पर पटना आइजी संजय कुमार सिंह को बीएमसी के प्रमुख को एक प्रोटेस्ट लेटर (विरोध पत्र) लिखने के लिए कहा गया है. इसके ड्राफ्ट पर बैठक में विस्तार से चर्चा की गयी है. यह पत्र शाम तक भेज दिया जायेगा.

बता दें कि सुशांत सिंह के पिता के के सिंह ने पटना के राजीवनगर में एक मामला दर्ज करवाया है, जिसमें रिया चक्रवर्ती सहित छह लोगों को आरोपी बनाया गया है. इसी मामले की जांच के लिए बिहार पुलिस ने चार सदस्यीय दल मुम्बई भेजा था और इसके बाद रविवार को जांच की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए आईपीएस विजय कुमार को मुम्बई भेजा गया लेकिन रविवार को ही उन्हें क्वारंटाइन कर दिया गया.

बीएमसी ने हालांकि इस मामले में सफाई दी है कि विनय कुमार को नियमों के तहत क्वारंटाइन किया गया है. इस मसले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी अपना विरोध जता चुके हैं.